scorecardresearch
 

लॉकडाउन से प्रभावित प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए सरकार के कंट्रोल रूम एक्टिव, देखें हेल्पलाइन नंबरों की लिस्ट

श्रम मंत्रालय (Ministry of Labour and Employment) ने एक बार फिर श्रमिक मजदूरों के लिए अपने कंट्रोल रूम (Control Rooms) एक्टिव कर दिए हैं. श्रमिक मजदूर ई-मेल, मोबाइल एवं व्हाट्सएप के माध्यम से कंट्रोल रूम पर संपर्क कर सकते हैं.

Migrant labourer (Symbolic Image) Migrant labourer (Symbolic Image)

देश में लगातार कोरोना संक्रमण का संकट बढ़ता जा रहा है. कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए राज्य सरकारों द्वारा अपने स्तर पर आंशिक या फुल लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू लगाया जा रहा है. इस बीच श्रम मंत्रालय (Ministry of Labour and Employment) ने एक बार फिर श्रमिक मजदूरों के लिए अपने कंट्रोल रूम (Control Rooms) एक्टिव कर दिए हैं.

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय (Ministry of Labour and Employment) द्वारा जारी बयान के मुताबिक कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले और कई राज्यों में लगाई गई पाबंदियों के चलते श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने अप्रैल 2020 में गठित 20 कंट्रोल रूम फिर से चालू कर दिए गए हैं. साथ ही नंबर भी जारी कर दिए गए हैं. किसी भी श्रमिक एवं प्रवासी मजदूर को किसी तरह की आवश्यकता हो तो हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करें और सेवा का लाभ उठाएं.

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के मुताबुक सभी संबंधित अधिकारियों/पदाधिकारियों को सलाह दी गई है कि पीड़ित श्रमिकों की अधिकतम संभव सीमा तक सहायता करने और जरूरतमंदों को समय पर राहत प्रदान करने के लिए मानवीय दृष्टिकोण का पालन करें. बता दें कि श्रमिक मजदूर ई-मेल, मोबाइल एवं व्हाट्सएप के माध्यम से कंट्रोल रूम पर संपर्क कर सकते हैं.

Ministry of Labour and Employment , Region wise details of Covid - 19 Control Rooms Contact List

इन शहरों में बनाए गए कंट्रोल रूम
श्रम मंत्रालय के मुताबिक, ये कंट्रोल रूम अहमदाबाद, अजमेर, आसनसोल, बेंगलुरु, भुवनेश्वर, चंडीगढ़, चेन्नई, कोच्चि, देहरादून, दिल्ली, धनबाद, गुवाहाटी, हैदराबाद, जबलपुर, कानपुर,कोलकाता, मुंबई, नागपुर,पटना और रायपुर में एक्टिव हैं.

श्रम मंत्रालय की ओर से कहा गया कि इस महामारी की चुनौतियां विशाल हैं, इससे श्रमिक विभिन्न तरीकों से प्रभावित भी होते हैं. साथ ही आश्वासन दिया गया कि समर्पित अधिकारियों की टीम के साथ वे श्रमिकों की समस्याओं को यथासंभव कम करने का प्रयास करेंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें