scorecardresearch
 

लखीमपुर खीरी कांड: आरोपी आशीष मिश्रा की जमानत पर अब 15 जुलाई को सुनवाई

आशीष मिश्रा लखीमपुर हिंसा कांड में मुख्य आरोपी है. दावा किया गया था कि 3 अक्टूबर 2021 को तिकुनिया इलाके में आशीष ने अपनी थार जीप से किसानों को कुचल दिया था. ये किसान केंद्रीय मंत्री के बयान का विरोध करने के लिए जुटे थे.

X
लखीमपुर हिंसा में आरोपी आशीष मिश्रा जेल में बंद है. लखीमपुर हिंसा में आरोपी आशीष मिश्रा जेल में बंद है.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • केंद्रीय गृह राज्य मंत्री का बेटा है आशीष मिश्रा उर्फ मोनू
  • किसानों को थार जीप से कुचलने के आरोप में HC में मामला

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा की जमानत याचिका पर अब 15 जुलाई को सुनवाई होगी. इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में ये मामला चल रहा है. बुधवार को सरकारी वकील ने अपना पक्ष रखा. अब 15 जुलाई को विपक्षी वकील कोर्ट के सामने अपनी दलीलें रखेंगे. बहस पूरी होने के बाद लखनऊ बेंच आशीष मिश्रा की जमानत पर फैसला देगी.

बता दें कि आशीष मिश्रा लखीमपुर हिंसा कांड में मुख्य आरोपी है. दावा किया गया था कि 3 अक्टूबर 2021 को तिकुनिया इलाके में आशीष ने अपनी थार जीप से किसानों को कुचल दिया था. ये किसान केंद्रीय मंत्री के बयान का विरोध करने के लिए जुटे थे. मामले में पुलिस ने पूछताछ के बाद आशीष मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया था.

बुधवार को केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के आरोपी बेटे आशीष मिश्रा की हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में जमानत अर्जी पर सुनवाई. जस्टिस कृष्ण पहल की बेंच ने मामले में सुनवाई की. किसानों की तरफ से अपना पक्ष रख दिया गया है. आज सरकारी वकीलों ने अपना पक्ष रखा. अब 15 जुलाई को आशीष मिश्रा की तरफ से बेल एप्लीकेशन पर अपना पक्ष रखा जाएगा.

बताते चलें कि सुप्रीम कोर्ट से जमानत रद्द होने के बाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच में आशीष के मामले में दोबारा सुनवाई चल रही है. पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने आशीष की जमानत रद्द कर थी. जिसके बाद आशीष को सरेंडर करना पड़ा था. इससे पहले आशीष मिश्रा उर्फ मोनू की जमानत पर 8 जुलाई को लखनऊ हाई कोर्ट में सुनवाई हुई थी. 

पिता और बेटे के अलग-अलग केस, एक ही कोर्ट में सुनवाई

गौरतलब है कि आशीष के पिता और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के खिलाफ भी लखनऊ बेंच में एक हत्या के मामले में सुनवाई चल रही है. बीते दिनों कोर्ट में अजय मिश्रा और उनके बेटे आशीष के मामले में एक ही दिन सुनवाई हुई थी. पिता-पुत्र से जुड़े दोनों मामलों की अलग-अलग बेंच ने सुनवाई की थी. 22 साल पहले लखीमपुर में हुए प्रभात गुप्ता मर्डर केस में अजय मिश्रा के खिलाफ केस चल रहा है. इस केस में जस्टिस रमेश सिन्हा और सरोज यादव की डबल बेंच सुनवाई कर रही है. जबकि जस्टिस कृष्ण पहल की बेंच में आशीष मिश्रा उर्फ मोनू की जमानत पर सुनवाई की जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें