scorecardresearch
 

जरूरत पड़ी तो कर्नाटक में भी योगी मॉडल अपनाएंगे... BJP नेता की हत्या पर बोले CM बोम्मई

कर्नाटक में जब से बीजेपी नेता की हत्या की गई है, राज्य में योगी मॉडल के तहत कार्रवाई करने की मांग उठने लगी है. अब पहली बार सीएम बसवराज बोम्मई ने भी इसके संकेत दे दिए हैं. उनका साफ कहना है कि जरूरत पड़ने पर ये मॉडल भी अपनाया जाएगा.

X
मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई और योगी आदित्यनाथ
मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई और योगी आदित्यनाथ

कर्नाटक में बीजेपी नेता प्रवीन नेट्टारू की हत्या के बाद से बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है. पार्टी के कार्यकर्ता उस हत्या से आक्रोशित हैं और अपनी ही राज्य सरकार को घेर रहे हैं. सीएम बसवराज बोम्मई की कार्रवाई से भी ये कार्यकर्ता संतुष्ट नहीं हैं. उनसे और ज्यादा सख्त होने की अपील की जा रही है.

अब इस तमाम विरोध के बीच मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि जरूरत पड़ने पर राज्य में योगी मॉडल भी लागू किया जा सकता है. वे कहते हैं कि उत्तर प्रदेश में जैसी स्थिति है, वहां के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ फिट बैठते हैं. इसी तरह कर्नाटक में भी अलग-अलग तरीकों से स्थितियों से निपटा जाता है. अगर जरूरत पड़ेगी तो योगी मॉडल भी कर्नाटक में लागू किया जाएगा. 

सीएम आगे कहते हैं कि हम हर जरूरी कदम उठाने वाले हैं. अगर और ज्यादा सख्त होना पड़े, तो हमारे कदम लड़खड़ाने वाले नहीं हैं. अब सीएम का ये बयान मायने रखता है क्योंकि इस समय कर्नाटक में प्रवीन की हत्या के बाद से राजनीति उबाल मार रही है. स्थिति ऐसी हो गई है कि बीजेपी के विधायकों और सांसदों तक को विरोध का सामना करना पड़ रहा है.

वैसे जिन बीजेपी कार्यकर्ताओं ने कर्नाटक में योगी मॉडल की बात की है, वे वहां की बुलडोजर राजनीति से काफी प्रभावित हैं, उन्हें विकास दुबे का एनकाउंटर भी याद आता है. ये सारे वो कदम हैं जिस वजह से सीएम योगी आदित्यनाथ की एक सख्त प्रशासक वाली छवि बनी है. इसी दम पर वे कानून व्यवस्था के सुधरने का हवाला भी देते हैं.

अब कर्नाटक में भी बीजेपी के नेता ऐसा ही कोई मॉडल चाहते हैं. सीएम बसवराज बोम्मई ने इसके संकेत दे दिए हैं. वे तो यहां तक कह रहे हैं कि योगी मॉडल से भी ज्यादा सख्त कोई फैसला लेना होगा, तो वो लेने से भी हिचका नहीं जाएगा. वे बीजेपी नेता की हत्या करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कर रहे हैं.

जानकारी के लिए बता दें कि कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में बीजेपी युवा मोर्चा के जिला सचिव प्रवीण नेट्टारू की मंगलवार को बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. दिनभर काम करने के बाद प्रवीण दुकान बंद कर जब घर लौट रहे थे तभी रात करीब 9 बजे बाइक सवार बदमाशों ने धारदार हथियार से उन पर हमला कर दिया है.

जांच के दौरान ये भी सामने आया है कि प्रवीन ने कन्हैया लाल के समर्थन में एक पोस्ट शेयर किया था. इसी वजह से उन पर ये हमला किया गया. इस हत्या में PFI का कनेक्शन भी सामने आ रहा है. राज्य में PFI पर बैन लगाने की मांग हो रही है. लेकिन सीएम का सिर्फ इतना कहना है कि दूसरे राज्यों में भी ये संगठन सक्रिय है. ऐसे में सभी को मिलकर कोई फैसला लेना होगा.

प्रियंका आर की रिपोर्ट

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें