scorecardresearch
 

Kaali Controversy: लीना पर भारत में दर्ज FIR का क्या होगा? काली पोस्टर विवाद पर विदेश मंत्रालय ने दिया जवाब

लीना मणिमेकलई ने जब ट्विटर पर अपनी फिल्म काली का पोस्टर जारी किया तो भारत में तूफान खड़ा हो गया. भारत में बढ़ते विवाद को देखकर कनाडा में भारतीय उच्चायोग तुरंत एक्शन में आया और बयान जारी किया.

X
फिल्ममेकर लीना मणिमेकलई
फिल्ममेकर लीना मणिमेकलई
स्टोरी हाइलाइट्स
  • काली विवाद पर विदेश मंत्रालय का बयान
  • दोनों आयोजकों ने माफी मांग ली है- MEA
  • अब फिल्म नहीं दिखाई जा रही है- MEA

कनाडा में जारी किए गए डॉक्यूमेंट्री फिल्म काली के पोस्टर विवाद पर भारत के विदेश मंत्रालय ने प्रतिक्रिया दी है. विदेश मंत्रालय ने कहा है कि उन्होंने कनाडा के अधिकारियों को कहा है कि ऐसे भड़काऊ कंटेंट के खिलाफ कार्रवाई की जाए. भारत में इस विवाद को लेकर फिल्म मेकर लीना मणिमेकलई के खिलाफ दर्ज किए गए FIR पर विदेश मंत्रालय ने कहा है कि FIR हमारे देश का आंतरिक मामला है. 

भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा कि ओटावा में हमारे उच्चायोग ने एक बयान जारी किया है. इसके बाद इस फिल्म को दिखाने के लिए प्लेटफॉर्म मुहैया कराने वाले दोनों आयोजकों ने खेद जताया और फिल्म को वहां से हटा दिया है. विदेश मंत्रालय ने कहा कि अब इस मामले में जोड़ने के लिए कुछ नहीं है. इस मामले में दर्ज हुए FIR देश के आंतरिक मामले हैं. 

बता दें कि लीना मणिमेकलई द्वारा जारी गए इस फिल्म के पोस्टर में देवी काली को गलत तरीके चित्रित किया गया था और उन्हें सिगरेट पीते हुए दिखाया गया था. लीना ने इस पोस्टर को ट्विटर पर जारी किया था. लीना के इस पोस्टर पर भारत में बवाल हो गया और इसके खिलाफ कार्रवाई की मांग की जाने लगी. 

पढ़ें: धर्म का एकतरफा अनादर समस्याएं पैदा कर रहा है, काली पोस्टर विवाद पर बोले अमीश त्रिपाठी 

इसके बाद ओटावा में भारतीय उच्चायोग ने एक बयान जारी कर इस पोस्टर की आलोचना की और आगा खान म्यूजियम और अंडर द टेंट प्रोजेक्ट से अपील की कि इस डॉक्युमेंट्री फिल्म को न दिखाया जाए. 

भारतीय उच्चायोग की अपील पर अमल करते हुए आगा खान म्यूजियम ने खेद जताया. म्यूजियम प्रशासन ने कहा कि उन्हें इस बात का खेद है कि अंडर द टेंट प्रोजेक्ट के तहत दिखाई जाने वाली 18 छोटी वीडियोज में से एक को लेकर विवाद हुआ है. हिंदू समाज के लोगों की आस्था को ठेस पहुंची है. इसके बाद आगा खान म्यूजियम ने इस डाक्युमेंट्री को हटा लिया.

भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि उन्होंने कनाडा के अधिकारियों का ध्यान भी इस भड़काऊ कंटेट की ओर आकर्षित किया है और एक्शन की मांग की है. दोनों आयोजकों ने माफी मांग ली है और फिल्म को हटा लिया है. अब ये फिल्म नहीं दिखाई जा रही है. इसलिए इस मामले पर विदेश मंत्रालय की स्थिति बहुत स्पष्ट है.  

बता दें कि आगा खान म्यूजियम के बाद लगातार विरोध को देखते हुए ट्विटर ने भी अपने प्लेटफॉर्म से इस पोस्टर को हटा दिया था. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें