scorecardresearch
 

नगरोटा एनकाउंटर के बाद सुरक्षाबल और सतर्क, नाकों पर फुल बॉडी ट्रक स्कैनर की बताई जरूरत

नगरोटा एनकाउंटर में मारे गए आतंकी सीमा पार से आए थे. इन आतंकियों ने सांबा सेक्टर में आने के बाद ट्रक के जरिए आगे का सफर तय किया था. घाटी की ओर आ रहे ट्रक को सुरक्षाबलों ने बन टोल प्लाजा पर रोक दिया था और एनकाउंटर में चार आतंकी मारे गए थे.

सेना ने नगरोटा एनकाउंटर में चार आतंकियों को मार गिराय था. सेना ने नगरोटा एनकाउंटर में चार आतंकियों को मार गिराय था.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सेब लदे ट्रकों में छिपते हैं आतंकी
  • सुरक्षाबल चाहते हैं फुल बॉडी ट्रक स्कैनर

नगरोटा एनकाउंटर के बाद से भारतीय सुरक्षाबल आतंकी हमले रोकने के लिए फुल बॉडी ट्रक स्कैनर चाहते हैं. सेब से लदे ट्रकों का इस्तेमाल आतंकी छिपने और आगे की दूरी तय करने के लिए करते हैं. ऐसे में सुरक्षाबल चाहते हैं कि घाटी में चेक प्वाइंट्स और  नाकों पर फुल बॉडी ट्रक स्कैनर लगाए जाएं. इ़ंडिया टुडे टीवी को शीर्ष आधिकारिक सूत्रों ने इस बात की जानकारी दी.

दरअसल, नगरोटा एनकाउंटर में मारे गए चार आतंकी सेब भरे ट्रक में छिपे हुए थे. जम्मू-कश्मीर पुलिस के पास इन आतंकियों की मूवमेंट की जानकारी थी जिसके चलते इन आतंकियों पर नजर रखी जा सकी और एनकाउंटर में इन्हें मार गिराया गया. सूत्रों का कहना है कि नगरोटा में हुए इस एनकाउंटर के बाद से फुल बॉडी ट्रक स्कैनर लगाने की मांग एक बार फिर से तेज हो गई है.

सूत्रों के मुताबिक सेब लदे ट्रकों की जांच के दौरान सेब की पेटियां उतार कर चेकिंग की जाती है. स्कैनर ना होने के चलते सभी ट्रकों की ढंग से जांच नहीं हो पाती है. स्कैनर होने से ट्रैफिक अवरुद्ध हुए बिना आसानी और तेजी से इन ट्रकों की जांच की जा सकेगी. साथ ही ऐसे आतंकी हमलों को भी रोकने में मदद मिलेगी.

देखें- आजतक LIVE TV

नगरोटा एनकाउंटर में मारे गए आतंकी सीमा पार से आए थे. इन आतंकियों ने सांबा सेक्टर में आने के बाद ट्रक के जरिए आगे का सफर तय किया था. घाटी की ओर आ रहे ट्रक को सुरक्षाबलों ने बन टोल प्लाजा पर रोक दिया था और एनकाउंटर में चार आतंकी मारे गए थे. बता दें कि यह सभी आतंकी जैश ए मोहम्मद ग्रुप के थे. ये लगातार मौलाना मसूद अजहर के भाई अब्दुल रऊफ के संपर्क में थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें