scorecardresearch
 

IRCTC: सीनियर सिटिजन्स को कैसे मिलेगी कन्फर्म लोअर बर्थ? IRCTC ने दी जानकारी

Indian Railways: कई बार रेल यात्रा के दौरान सीनियर सिटिजन्स की शिकायत होती है कि उन्हें लोवर बर्थ आसानी से नहीं मिलती. अब इस बारे में IRCTC ने ट्वीट कर जानकारी दी है. IRCTC ने बताया है कि आप कैसे सीनियर सिटिजन्स के लिए कन्फर्म लोअर सीट बुक कर सकते हैं.

X
How To Get Confirm Lower Berth (Representational Image)
How To Get Confirm Lower Berth (Representational Image)

Indian Railways: भारतीय रेलवे की मदद से रोजाना लाखों यात्री एक जगह से दूसरी जगह की यात्रा करते हैं. रेलवे इनके लिए अपनी सेवाओं को लगातार अपग्रेड भी करते रहता है. इसी तरह IRCTC भी नए नियम बनाता है और पुराने नियमों को आसान करता है. हालांकि, फिर भी कई यात्री तरह-तरह की शिकायतें करते रहते हैं. इसी तरह सीनियर सिटिजन्स की शिकायत होती है कि उन्हें लोवर बर्थ आसानी से नहीं मिलती.

हाल ही में एक ट्विटर यूजर ने ट्वीट किया कि मैंने कल शाम मेरे अंकल के लिए एक टिकट बुक करवाई (PNR 2448407929) जिसमे मैंने फर्स्ट प्रेफरेंस में लोअर बर्थ ऑप्ट किया था क्योंकि उनका एक पैर का पंजा कटा हुआ है और वह अपर या मिडिल बर्थ में ट्रैवल नहीं कर सकते. लेकिन उसके बावजूद मुझे अपर बर्थ मिली.

इस ट्वीट के जवाब में IRCTC ने बताया कि आखिर शख्स को लोवर बर्थ क्यों नहीं मिली. IRCTC ने ट्वीट में कहा, ''सर, पीएनआर नं. 2448407929 सामान्य कोटे में बुक है. सामान्य कोटे में आप लोअर बर्थ के लिए वरीयता दे सकते हैं लेकिन बर्थ का आवंटन उपलब्धता पर निर्भर करता है. उसके बाद आपको रिजर्वेशन च्वाइस "Book only if lower berth is allotted" का चयन करना होगा.

एक अन्य ट्वीट में IRCTC ने आगे लिखा, ''कृपया ध्यान दें कि सामान्य कोटे में निचली बर्थ का आवंटन पूरी तरह से उपलब्धता पर निर्भर करता है और इसमें कोई मानवीय हस्तक्षेप नहीं होता है. इसके अलावा, आप ऑन ड्यूटी  टीटीई से संपर्क कर सकते हैं जो जरूरतमंदों को खाली  लोअर बर्थ उपलबद्ध कराने  के लिए आधिकृत हैं.''

नियमों के अनुसार, आरक्षित स्लीपिंग क्लास वाली सभी ट्रेनों में स्लीपर क्लास में प्रति कोच छह लोअर बर्थ और एसी 3 टियर और एसी -2 टियर क्लास में 3 लोअर बर्थ का कोटा सीनियर सिटीजन के लिए तय किया गया है. वहीं, अगर ट्रेन के प्रस्थान के बाद उसमें नीचे की कोई बर्थ खाली है तो किसी विकलांग व्यक्ति, वरिष्ठ नागरिक या गर्भवती महिला, जिसे ऊपर या बीच वाली बर्थ मिली है, के आग्रह पर उसे ऑन बोर्ड टिकट चेकिंग स्टाफ द्वारा चार्ट में जरूरी बदलाव करके नीचे की सीट आवंटित की जा सकती है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें