scorecardresearch
 

Indian Railway: दरभंगा से अजमेर के लिए शुरू हुई स्पेशल ट्रेन, ये धार्मिक स्थल होंगे कनेक्ट

Indian Railway: भारतीय रेलवे ने दरभंगा से अजमेर तक के लिए एक स्पेशल ट्रेन की शुरुआत की है. यह ट्रेन धार्मिक स्थल सीतामढ़ी मथुरा से गुजरते हुए अजमेर पहुंचेगी. अभी इस ट्रेन ट्रायल के रूप में चार फेरे में चलाया जाएगा.

X
Special train started from Darbhanga to Ajmer Special train started from Darbhanga to Ajmer
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ट्रायल बेसिस पर 4 ट्रिप का परिचालन
  • मथुरा समेत कई धार्मिक स्थल होंगे कनेक्ट

Indian Railway News: भारतीय रेलवे ने दरभंगा से मथुरा अजमेर के बीच एक स्पेशल ट्रेन की शुरुआत की है. इस ट्रेन को आज यानी 20 जुलाई को दरभंगा के सांसद गोपाल जी ठाकुर और समस्तीपुर रेलमंडल के डीआरएम आलोक अग्रवाल ने हरी झंडी दिखाकर अजमेर के लिए रवाना किया.

बता दें कि इस दौरान दरभंगा अजमेर स्पेशल ट्रेन को आकर्षक रूप से सजाया गया था. ट्रेन को देखने के लिए काफी संख्या में लोग जुटे हुए थे. पूर्व मध्य रेलवे ने यात्रियों की सुविधा ध्यान में रखते हुए दरभंगा से होते हुए सीतामढ़ी, बैरगनिया, रक्सौल, नरकटियागंज, कप्तानगंज, गोरखपुर के रास्ते अजमेर तक के लिए  (ट्रायल बेसिस पर 04 ट्रिप) परिचालन करने का फैसला किया है.

ट्रेन संख्या 05537 दरभंगा-अजमेर स्पेशल 20.07.2022 से 10.08.2022 तक प्रत्येक बुधवार को दरभंगा से 13:15 बजे खुलकर गुरूवार को रात 22:05 बजे अजमेर पहुंचेगी. इसी तरह ट्रेन संख्या 05538 अजमेर-दरभंगा स्पेशल 21.07.2022 से 11.08.2022 तक प्रत्येक गुरूवार को अजमेर से 23:25 बजे खुलकर शनिवार को  06:50 बजे दरभंगा पहुंचेगी. इस स्पेशल ट्रेन में वातानुकूलित द्वितीय श्रेंणी के 02, वातानुकूलित तृतीय श्रेंणी के 03, शयनयान श्रेणी के 13 तथा साधारण श्रेणी के 04 कोच जोड़े गए हैं.

धार्मिक स्थलों से गुजरते हुए अजमेर पहुंचेगी ट्रेन 

समस्तीपुर रेलमंडल के दरभंगा से अजमेर के लिए 20 जुलाई से शुरू हुई यह ट्रेन धार्मिक स्थल सीतामढ़ी मथुरा से गुजरते हुए अजमेर पहुंचेगी. सीतामढ़ी स्टेशन से महज 1.5 किलोमीटर की दूरी पर माता सीता की जन्म स्थली जानकी मंदिर है. यहां देश के कोने कोने से काफी संख्या में श्रद्धालु पूजा अर्चना करने आते हैं. इसी तरह मथुरा स्टेशन से लगभग 10 किलोमीटर दूर भगवान कृष्ण की जन्म स्थली और भारत की प्राचीन नगरी है. जिसे लोग वृंदावन के रूप में भी जानते हैं.

अजमेर शरीफ दरगाह को सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के कब्र को ख्वाजा गरीब नवाज के नाम से भी जाना जाता है. यहां आस्था के साथ लोग अपनी मुरादें लेकर आते है. अजमेर शरीफ दरगाह की खासियत यह है कि इस जगह पर मुस्लिम, हिन्दू,सिख और जैन सहित सभी धर्मों के लोग सजदा करने के साथ साथ चादर चढ़ाने आते हैं. इस तरह से देखा जाए तो दरभंगा से अजमेर के लिए चलने वाली यह ट्रेन धार्मिक दृष्टिकोण से काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी.

क्या कहते हैं अधिकारी 

समस्तीपुर रेलमंडल के डीआरएम आलोक अग्रवाल ने बताया कि अभी इस ट्रेन ट्रायल के रूप में चार फेरे में चलाया जाएगा. इस ट्रेन का संचालन सफल रहा तो आगे इसके फेरों को बढ़ा दिया जाएगा. वह आगे कहते हैं कि इस नए रूट पर ट्रेन चलने से यात्रियों को काफी सुविधा होगी. इस ट्रेन की काफी पुरानी मांग थी. यह ट्रेन सीतामढ़ी रक्सौल नरकटियागंज मथुरा होते हुए अजमेर को जाएगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें