scorecardresearch
 

नेपाल को भारत का तोहफा, चुनाव कराने के लिए भेजी 200 गाड़ियां

नेपाल में 20 नवंबर को संघीय संसद के साथ-साथ प्रांतीय विधानसभाओं के लिए भी चुनाव होने हैं. भारतीय दूतावास की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, नेपाल ने वाहनों के लिए भारत सरकार से अनुरोध किया था. वित्त मंत्रालय में आयोजित एक समारोह में, नेपाल में भारतीय राजदूत नवीन श्रीवास्तव ने वित्त मंत्री जनार्दन शर्मा को 200 वाहन सौंपे.

X
नेपाल में चुनाव कराने के लिए भारत ने 200 गाड़ियां भेजी
नेपाल में चुनाव कराने के लिए भारत ने 200 गाड़ियां भेजी

20 नवंबर को नेपाल में आम चुनाव होने जा रहे हैं. इनके सुचारू संचालन में भारत ने विभिन्न नेपाली संस्थानों को समर्थन के लिए नेपाली सरकार को 200 वाहन उपहार में दिए है. नेपाल में 20 नवंबर को संघीय संसद के साथ-साथ प्रांतीय विधानसभाओं के लिए भी चुनाव होने हैं. भारतीय दूतावास की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, नेपाल ने वाहनों के लिए भारत सरकार से अनुरोध किया था. वित्त मंत्रालय में आयोजित एक समारोह में, नेपाल में भारतीय राजदूत नवीन श्रीवास्तव ने वित्त मंत्री जनार्दन शर्मा को 200 वाहन सौंपे. प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि 200 वाहनों में से 120 सुरक्षा बलों के लिए हैं जबकि 80 वाहन नेपाल चुनाव आयोग के लिए हैं.
 
कारों की चाबियां मंत्री को सौंपते हुए नवीन श्रीवास्तव ने कहा "मुझे उम्मीद है कि ये वाहन नेपाल सरकार द्वारा चुनाव कार्यक्रमों की व्यवस्था करने में मदद करेंगे." इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं देश में होने जा रहे चुनाव के सफल और प्रभावी ढंग से होने की कामना करता हूं. उन्होंने कहा कि मैं भारत सरकार की ओर से नेपाल के लोगों को शुभकामनाएं देता हूं.

वित्त मंत्री ने इन वाहनों को उपहार में देने सहित नेपाल के साथ विकास साझेदारी के रूप में उनके निरंतर समर्थन के लिए सरकार और भारत के लोगों का आभार व्यक्त किया. नेपाल के लिए 20 नवंबर का चुनाव लोकतांत्रिक प्रक्रिया को मजबूत करने और स्थिरता बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण होगा. 

भारत ने पिछले चुनावों के दौरान भी हिमालयी राष्ट्र की सरकार के अनुरोध पर नेपाल को वाहनों का समर्थन दिया था. विज्ञप्ति के अनुसार, अब तक के चुनावों के दौरान समर्थन के लिए विभिन्न नेपाली संस्थानों को 2,400 से अधिक वाहन उपहार में दिए गए हैं, जिसमें नेपाल पुलिस और सशस्त्र पुलिस बलों को लगभग 2,000 वाहन और नेपाली सेना और चुनाव आयोग को लगभग 400 वाहन शामिल हैं. भारतीय दूतावास की प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि इन लॉजिस्टिक प्रावधानों का विस्तार लोगों के बीच संपर्क के विकास में योगदान के लिए भारत सरकार के निरंतर समर्थन को दर्शाता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें