scorecardresearch
 

दिल्ली से पंजाब तक किसानों का हल्लाबोल, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिल्ली के राजपथ पर ट्रैक्टर में लगाई आग

मोदी सरकार द्वारा लाए गए कृषि विधेयकों के खिलाफ विपक्ष का हल्ला बोल जारी है. सोमवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में एक ट्रैक्टर को आग के हवाले कर दिया.

यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने लगाई ट्रैक्टर में आग (फोटो: Twitter) यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने लगाई ट्रैक्टर में आग (फोटो: Twitter)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कृषि बिल का विरोध जारी
  • कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ट्रैक्टर में लगाई आग

केंद्र सरकार के द्वारा लाए गए कृषि विधेयकों के खिलाफ देश में प्रदर्शन रुका नहीं है. दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश जैसे क्षेत्रों में इसका व्यापक असर देखने को मिल रहा है. सोमवार सुबह भी देश की राजधानी दिल्ली के दिल कहे जाने वाले राजपथ पर बिल के विरोध में गुस्सा देखने को मिला. यहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक ट्रैक्टर में आग लगा दी और कृषि विधेयकों पर विरोध जताया. 

किसान कानून का विरोध कर रहे कुछ कांग्रेस के कार्यकर्ता सोमवार सुबह एक ट्रैक्टर लेकर राजपथ पहुंचे. यहां इंडिया गेट के पास उन्होंने कृषि विधेयक का विरोध करते हुए ट्रैक्टर को आग के हवाले कर दिया. तुरंत ही मौके पर पहुंचकर ट्रैफिक पुलिस और फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पाया. 

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, करीब सुबह 7.15 बजे 15-20 लोग इंडिया गेट के पास आए और ट्रैक्टर में आग लगाई. पुलिस ने तुरंत मौके पर पहुंचकर आग बुझाई और ट्रैक्टर को वहां से हटाया. आगजनी को लेकर इस घटना में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है. जबकि जिस इनोवा गाड़ी का इस्तेमाल हुआ, उसे भी जब्त किया गया है. 

अब इस मामले की पुलिस ने जांच शुरू कर दी है, सीसीटीवी की मदद से उन लोगों के चेहरे तलाशे जा रहे हैं जिन्होंने ट्रैक्टर में आग लगाई. पुलिस की ओर से इस मामले में कानूनी एक्शन लिया जाएगा.

आपको बता दें कि तीनों कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मंजूरी मिल गई है, यानी ये बिल अब कानून बन चुके हैं. हालांकि, इस बीच भी देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन हो रहा है. कांग्रेस समेत विपक्ष की कई पार्टियां कानून के विरोध में हैं. विपक्षी दलों ने राष्ट्रपति से मिलकर इस बिल पर साइन ना करने की अपील की थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

कर्नाटक में भी सोमवार को किसानों ने राज्य बंद बुलाया है, कृषि विधेयक के विरोध में मंडियों को बंद किया गया है. साथ ही दुकानदारों से बाजार बंद रखने की अपील की गई है. वहीं, किसानों के समर्थन में जो भी दुकानदार अपनी दुकानें बंद कर रहे हैं, उन्हें किसानों की ओर से फूल दिया जा रहा है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें