scorecardresearch
 

चुनाव आयोग ने अनुप्रिया की पार्टी अपना दल (एस) को स्टेट पॉलिटिकल पार्टी का दर्जा दिया

चुनाव आयोग ने बुधवार को एक पत्र जारी किया और इसमें बताया कि 2022 के चुनाव में अपना दल (सोनेवाल) की परफॉर्मेंस को देखते हुए राज्य के राजनैतिक दल के रूप में मान्यता दी गई है. आयोग ने कहा कि आम चुनाव में समीक्षा के बाद यह देखा गया है कि अपना दल (एस) ने निर्धारित शर्तों को पूरा किया है.

X
अपना दल (S) की अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल केंद्र सरकार में मंत्री हैं.
अपना दल (S) की अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल केंद्र सरकार में मंत्री हैं.

केंद्रीय चुनाव आयोग ने अपना दल (सोनेलाल)  को राज्य की राजनैतिक पार्टी का दर्जा दिया है. अपना दल (एस) की राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल हैं, जो केंद्र सरकार में मंत्री हैं. जबकि अनुप्रिया के पति आशीष पटेल एमएलसी हैं और योगी सरकार में तकनीकी शिक्षा मंत्री हैं. अपना दल (एस) एनडीए का हिस्सा है. पिछले विधानसभा चुनाव में अपना दल (एस) ने 17 सीटों पर चुनाव लड़ा था और 12 पर जीत हासिल की थी. जबकि 5 सीटों पर रनरअप रही थी.

बुधवार को चुनाव आयोग ने एक पत्र जारी किया और इसमें बताया कि 2022 के चुनाव में पार्टी की परफॉर्मेंस को देखते हुए राज्य के राजनैतिक दल के रूप में मान्यता दी गई है. आयोग ने कहा कि उत्तर प्रदेश विधान सभा 2022 के आम चुनाव में समीक्षा के बाद यह देखा गया है कि अपना दल (सोनेलाल) वर्तमान में एक पंजीकृत गैर-मान्यता प्राप्त पार्टी है और उसने चुनाव चिह्न (आरक्षण और आवंटन) आदेश 1968 के पैरा 6ए में निर्धारित शर्तों को पूरा किया है. 

ऐसे में आयोग ने चुनाव चिह्न (आरक्षण और आवंटन) आदेश 1968 के प्रावधानों के तहत अपना दल (एस) को यूपी में एक राज्य पार्टी के रूप में मान्यता प्रदान की है. इसके अलावा, आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध फ्री सिंबल लिस्ट में से एक सिंबल वरीयता का प्रस्ताव करें या आयोग के विचार के लिए तीन नए सिंबल (सिंबल के डिजाइन और ड्राइंग के साथ) का प्रस्ताव भेजें. नि:शुल्क सिंबल लिस्ट आयोग की वेबसाइट पर देखी जा सकती है. इस संबंध में अधिसूचना जारी की जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें