scorecardresearch
 

पालम हत्याकांड: पहले दादी को मारा, फिर पिता, मां और बहन को... 4 घंटे तक घर में कत्लेआम करता रहा ड्रग एडिक्ट

केशव ने मंगलवार शाम 5.30 बजे अपनी दादी से पैसे मांगे, जब उन्होंने पैसे देने से इनकार कर दिया. तो केशव ने उनकी हत्या कर दी. शाम 7.30 बजे केशव के पिता दिनेश घर लौटे तो उन्होंने अपनी मां को खोजा. इस दौरान केशव ने चाकू मारकर उनकी भी हत्या कर दी. वह शव को बाथरूम में ले गया. इसके बाद उसने मां और बहन की हत्या की.

X
आरोपी केशव ने अपनी दादी, पिता, मां और बहन की हत्या की
आरोपी केशव ने अपनी दादी, पिता, मां और बहन की हत्या की

कुछ महीने पहले ही रिहैब सेंटर से लौटे 25 साल के एक युवक ने एक एक कर परिवार के चार सदस्यों को मौत के घाट उतार दिया. मृतकों में आरोपी के पिता, दादी, मां और बहन शामिल हैं. मामला दिल्ली के पालम इलाके का है. यहां 25 साल के केशव ने इस कत्लेआम की शुरुआत दादी की हत्या से की. केशव ने अपनी दादी को सिर्फ इसलिए मार दिया, क्योंकि उन्होंने उसे ड्रग्स के लिए पैसे देने से इनकार कर दिया था. 

इस मामले में शिकायत करने वाले केशव के चचेरे भाई कुलदीप सैनी ने बताया कि वह अकसर घर से गायब हो जाता था. उन्होंने कहा कि केशव 10 साल से नशे का आदी था. वह 3 नवंबर को अचानक घर से गायब हो गया था. वह 19 नवंबर को लौट आया था. हालांकि, पुलिस का कहना है कि जब केशव ने अपने घरवालों की हत्या की तब वह नशे में नहीं था. 

शुरुआती जांच में पता चला है कि परिवार में पहले झगड़ा हुआ था. उसके पास नौकरी नहीं थी. उसके परिवार के लोग उसे नौकरी करने के लिए कहते थे. इससे वह गुस्से में था. मंगलवार को भी उसने अपनी मां से पैसे मांगे, लेकिन जब उन्होंने इनकार कर दिया तो वह झगड़ा करने लगा. इसके बाद वह घर से बाहर चला गया. इसके बाद उसकी मां, पिता और बहन भी घर से बाहर नौकरी पर चले गए. 

केशव शाम को वापस घर लौटा, उस वक्त उसकी दादी अकेली घर पर थीं. केशव ने शाम 5.30 बजे अपनी दादी से पैसे मांगे, जब उन्होंने देने से इनकार कर दिया. इसके बाद केशव ने उनकी हत्या कर दी. जब शाम 7.30 बजे केशव के पिता दिनेश घर लौटे तो उन्होंने अपनी मां को खोजा. इस दौरान केशव ने चाकू मारकर उनकी भी हत्या कर दी. वह शव को बाथरूम में ले गया. 

इसके बाद रात 9 बजे जब केशव की मां दर्शन लौटी, तो उसने उनकी भी चाकू मारकर हत्या कर दी. रात करीब 9.30 बजे जब केशव की बहन उर्वशी लौटी तो यह सब देखकर चौंक गई. वह मदद के लिए चिल्लाने लगी. तभी केशव ने उसकी भी हत्या कर दी. उर्वशी की आवाज सुनकर कुलदीप वहां पहुंच गया. केशव वहां से भागने की कोशिश कर रहा था. कुलदीप ने उसे पकड़ लिया और पुलिस को फोन किया. 

कुलदीप का कहना है कि केशव अकसर घर में लड़ाई झगड़े करता था. वह आए दिन सब को धमकी देता था और मारपीट करता था. पुलिस के मुताबिक, केशव पर पहले से दो आपराधिक मामले दर्ज हैं. पुलिस ने बताया कि जब वे केशव को गिरफ्तार करके ला रहे थे, तो उसने कुलदीप को भी धमकी दी. उसने कुलदीप से कहा कि तुमने मुझे पकड़वाया है, मैं जेल से आने के बाद तुम्हारी भी हत्या कर दूंगा. 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें