scorecardresearch
 

कोरोना वैक्सीन: भारत बायोटेक ने ब्राजील के साथ किया करार, मुहैया कराएगी COVAXIN

हाल ही में प्रीसिसा मेडिकामेंटो की टीम ने भारत बायोटेक कंपनी के अधिकारियों से मुलाकात की थी और वैक्सीन के निर्यात की संभावनाओं के बारे में चर्चा की थी. सात और आठ जनवरी को टीम ने हैदराबाद में भारत बायोटेक के डॉक्टर कृष्णा इला से बातचीत की थी.

भारत बायोटेक ने ब्राजील के साथ वैक्सीन को लेकर करार किया है. (सांकेतिक फोटो) भारत बायोटेक ने ब्राजील के साथ वैक्सीन को लेकर करार किया है. (सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भारत बायोटेक से भारत में ब्राजील के राजदूत ने की थी बातचीत
  • कोरोना से लड़ने में काफी कारगर है यह वैक्सीन
  • भारत बायोटेक 12 मिलियन डोज ब्राजील को देगा: सूत्र

कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए विश्वभर के देशों ने कमर कसनी शुरू कर दी है. वैक्सीन को लेकर दुनियाभर के देश सक्रिय हो गए हैं. इसी कड़ी में ब्राजील ने भारतीय फार्मास्यूटिकल फर्म भारत बायोटेक के साथ कोरोना वैक्सीन को लेकर करार किया है. भारत बायोटेक ने प्रीसिसा मेडिकामेंटो के साथ वैक्सीन सप्लाई की डील की है. सूत्रों के मुताबिक भारत बायोटेक 12 मिलियन डोज ब्राजील को देगा.

हाल ही में प्रीसिसा मेडिकामेंटो की टीम ने भारत बायोटेक कंपनी के अधिकारियों से मुलाकात की थी और वैक्सीन के निर्यात करने की संभावनाओं के बारे में चर्चा की थी. सात और आठ जनवरी को टीम ने हैदराबाद में भारत बायोटेक के डॉक्टर कृष्णा इला से बातचीत की थी.

बातचीत के दौरान भारत में ब्राजील के राजदूत एंड्रे अरान्हा कोरेया दो लागो भी वर्चुअल माध्यम से चर्चा में शामिल हुए थे. उन्होंने ब्राजील की सरकार की ओर से भारत में निर्मित वैक्सीन को लेकर दिलचस्पी दिखाई थी. दोनों पक्षों के बीच इस बात को लेकर सहमति बनी है कि पब्लिक मार्केट में जरूरत के हिसाब से ब्राजील की सरकार के संज्ञान में वैक्सीन की सप्लाई की जाएगी. प्राइवेट मार्केट में वैक्सीन की सप्लाई ANVISA (ब्राजील की रेगुलेटरी अथॉरिटी) के मानकों के आधार पर होगी.

देखें- आजतक LIVE TV

वैक्सीन को लेकर ब्राजील की दिलचस्पी से भारत बायोटेक के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. कृष्णा इला काफी खुश हुए. उन्होंने कहा, '' कोरोना वायरस ने मानव जाति को बड़ा नुकसान पहुंचाया है. बतौर फार्मा कंपनी हम विश्व के लोगों के स्वास्थ्य को बचाने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

दुनियाभर के लोगों के हित के लिए हमने वैक्सीन विकसित की है. COVAXIN एक नायाब वैक्सीन है और यह भारत के बेहतरीन कार्य का उदाहरण है. भारत बायोटेक जितनी भी वैक्सीन बना रही है, हम चाहते हैं कि उससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को मदद मिले.''

प्रीसिसा मेडिकामेंटो के डायरेक्टर ने भारत बायोटेक का दौरा करने के बाद कहा कि COVAXIN काफी हद तक सुरक्षित है और इसके परिणाम काफी बेहतर हैं. क्लीनिकल ट्रायल के परिणाम काफी अच्छे हैं जो काफी जल्द पब्लिश किए जाएंगे. भारत बायोटेक की यह वैक्सीन हमारे उम्मीदों पर खरी उतरती है.

बता दें कि कोवैक्सीन भारत की स्वदेशी वैक्सीन है. इसे भारत बायोटेक ने आईसीएमआर (ICMR), एनआईवी (NIV) के साथ मिलकर बनाया है. यह भारत बायोटेक के बीएसएल-3 (बायो सेफ्टी लेवल 3) बायो- कंटेंमेंट फैसिल्टी वाली पहली ऐसी वैक्सीन है. यह इम्युनिटी को डेवेलप करने में काफी कारगर है और वायरस का म्यूटेंट भी रोकती है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें