scorecardresearch
 

6 घंटे बाद पुलिस हिरासत से बाहर राहुल-प्रियंका गांधी, दूसरे नेताओं को भी छोड़ा

राहुल गांधी ने मार्च से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया. इस दौरान राहुल गांधी ने कहा, हिंदुस्तान का हर संस्थान आज स्वतंत्र, निष्पक्ष नहीं है. हिंदुस्तान का हर संस्थान आज RSS के नियंत्रण में है. हम सिर्फ एक राजनीतिक पार्टी से नहीं लड़ रहे हैं, हम हिंदुस्तान के पूरे इंफ्रास्ट्रक्चर के खिलाफ लड़ रहे हैं.

X
महंगाई के खिलाफ कांग्रेस का हल्लाबोल महंगाई के खिलाफ कांग्रेस का हल्लाबोल

कांग्रेस ने महंगाई के खिलाफ देशभर में हल्लाबोल जारी है. दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को हिरासत में ले लिया है. कांग्रेस के कई सांसद विजय चौक पर धरने पर बैठ गए हैं. दरअसल, राहुल गांधी कांग्रेस सांसदों के साथ संसद भवन से राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकाल रहे थे. लेकिन पुलिस ने उन्हें विजय चौक पर ही रोक दिया और राहुल गांधी समेत कई नेताओं को हिरासत में लिया गया है. पुलिस ने कांग्रेस को इस मार्च की अनुमति नहीं दी थी. इस इलाके में धारा 144 लागू है. उधर, कांग्रेस दफ्तर से मार्च निकाल रहीं प्रियंका गांधी को भी हिरासत में ले लिया गया. 

इस बीच, छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल न्यू पुलिस लाइंस किंग्सवे कैंप पहुंचे. यहां उन्होंने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी, पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और अन्य वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की. दोपहर में कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया था.

सांसदों के साथ मारपीट हुई- राहुल गांधी

इस दौरान राहुल गांधी ने कहा, सभी सांसद महंगाई के मुद्दे को उठाने के लिए राष्ट्रपति भवन जा रहे थे. लेकिन हमें आगे नहीं जाने दिया जा रहा है. हमारा काम जनता के मुद्दों को उठाने का है. कुछ सांसदों को हिरासत में लिया गया है. कुछ के साथ मारपीट भी हुई. 

धरने पर बैठीं प्रियंका गांधी



कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने कहा, हम राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकालने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन पुलिस ने हमें रोक दिया. पुलिस का कहना है कि इस इलाके में धारा 144 लागू है. यहां विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं है. कांग्रेस सांसदों ने खुद को गिरफ्तार करने की मांग की है. 

congress

वहीं, कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा, यह विरध महंगाई और अग्निपथ को लेकर है. महंगाई ने सभी पर असर डाला है. राजनीतिक पार्टी होने के नाते हमारा कर्तव्य है कि लोगों की आवाज को उठाएं. इसलिए हम प्रदर्शन कर रहे हैं.


बिग अपडेट:

कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि हम संसद में बेरोजगारी पर चर्चा करना चाहते हैं और सरकार से मुद्रास्फीति को नियंत्रित करने और अग्निपथ योजना को वापस लेने की अपील करना चाहते हैं. अगर वे हमें चर्चा नहीं करने देंगे तो हम सड़कों पर आ जाएंगे. संसद के कामकाज के दौरान सांसदों को हिरासत में लेना चाहते हैं तो संसद भवन में ईडी कार्यालय बनाने के साथ-साथ केंद्र को नई संसद के बजाय पुलिस लाइन बनानी चाहिए.

विजय चौक पर जब दिल्ली पुलिस ने कार्रवाई की तो राहुल गांधी को दीपेंद्र हुड्डा समेत अपने साथी सांसदों को बचाने की कोशिश करते देखा गया.



- कांग्रेस के सांसदों ने काले कपड़े पहनकर संसद से मार्च निकाला. इस दौरान सोनिया गांधी भी मौजूद रहीं. 

- दिल्ली, बिहार, तेलंगाना, राजस्थान समेत देशभर में कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन जारी है. दिल्ली में बारिश के बावजूद कांग्रेस के कार्यकर्ता सड़क पर जमे रहे.

- उधर, प्रियंका गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस के नेता पार्टी दफ्तर से मार्च निकाल रहे हैं. कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए कांग्रेस मुख्यालय के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है. इतना ही नहीं 10 से ज्यादा बसों को खड़ा कर दिया गया. ताकि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया जा सके. 

बारिश के बावजूद सड़क पर उतरे कार्यकर्ता

 


बिहार में सड़कों पर कार्यकर्ता
 

 

संसद से राष्ट्रपति भवन तक कांग्रेस का मार्च

कांग्रेस का ये हल्ला बोल दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय से शुरू हुआ. कांग्रेस ने राष्ट्रपति से भी मिलने का वक्त मांगा है, लेकिन अभी तक वक्त नहीं मिला है. 

 

अब गरीब की थाली पर भी GST की मार है।
देश का गरीब GST की लूट से लाचार है।।

5 अगस्त को पूरे देश में एक सुर में महंगाई के विरुद्ध हल्ला बोल होगा।#महंगाई_पर_हल्ला_बोल pic.twitter.com/8kLUM7ofhq

— Congress (@INCIndia) August 4, 2022

दिल्ली पुलिस ने कहा- सिर्फ जंतर मंतर पर प्रदर्शन की इजाजत

दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस को पत्र लिखकर कहा है कि जंतर मंतर को छोड़कर पूरी नई दिल्ली इलाके में 144 धारा लागू है. ऐसे में प्रोटेस्ट की इजाजत नहीं दी सकती है. अगर धारा 144 का उल्लंघन हुआ, तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी. नई दिल्ली इलाके के डीसीपी ने 4 अगस्त और 2 अगस्त को यानी 2 बार कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल को ये लेटर लिखा है, जानकारी के साथ साथ एक तरह से चेतावनी भी दी गई है. 

सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस को नई दिल्ली इलाके में प्रोटेस्ट को लेकर खुफिया विभाग से कुछ इनपुट्स भी मिले हैं जिसकी वजह से आज सुरक्षा व्यवस्था बेहद कड़ी की गई है. खास तौर से पीएम आवास और सभी वीवीआईपी के घर के आस पास. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें