scorecardresearch
 

आज का दिन: गांधी परिवार की दुहाई देकर शशि थरूर का काम बिगाड़ रहे अशोक गहलोत?

गांधी परिवार की 'पसंद' गहलोत रहेंगे तो कांग्रेस प्रेसिडेंट का चुनाव थरूर कैसे जीतेंगे?, म्यांमार में बंधक IT प्रफ़ेशनल्स को निकालने के लिए क्या कर रही सरकार? पुरानी एक्साइज़ पॉलिसी लागू होने पर दिल्ली में क्या दिक़्क़तें आ रही हैं? ODI में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ भारतीय महिला क्रिकेट टीम की ज़ीत किन मायनों में है ख़ास?, सुनिए 'आज का दिन' में अमन गुप्ता के साथ.

X
अशोक गहलोत (फाइल फोटो) अशोक गहलोत (फाइल फोटो)

आजतक रेडियो पर हम रोज लाते हैं, देश का पहला मॉर्निंग न्यूज़ पॉडकास्ट ‘आज का दिन’ जहां आप हर सुबह अपने काम की शुरुआत करते हुए सुन सकते हैं आपके काम की खबरें और उन पर क्विक एनालिसिस. साथ ही, सुबह के अखबारों की सुर्खियां और आज की तारीख में जो घटा, उसका हिसाब-किताब. जानिए, आज के एपिसोड में हमारे पॉडकास्टर अमन गुप्ता किन खबरों पर बात कर रहे हैं?
 

गांधी परिवार की 'पसंद' गहलोत रहेंगे तो कांग्रेस प्रेसिडेंट का चुनाव थरूर कैसे जीतेंगे?

राहुल गांधी की अगुआई में कांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा' जारी है. साथ साथ ये चर्चा भी ज़ोर पकड़ रही है कि क्या दो दशक के बाद पहली बार गांधी परिवार से बाहर का व्यक्ति कांग्रेस का प्रेसिडेंट बनेगा. राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने का मन बना चुके हैं. कल दिल्ली में सोनिया गांधी से उन्होंने मुलाक़ात की. दो घंटे तक उनकी  मुलाक़ात चली. इसके बाद वो केरल के लिए रवाना हो गए जहाँ उनका राहुल गाँधी से मिलने का और भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने का कार्यक्रम है. कहा तो ये भी जा रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष पद की ज़िम्मेदारी संभालने के लिए वो राहुल गांधी को कन्विंस करने का एक आख़िरी प्रयास भी करेंगे, लेकिन दूसरे कांग्रेस नेताओं का ही कहना है कि राहुल गांधी किसी भी हाल में इसके लिए तैयार नहीं होंगे. तो कुल मिलाकर बात ये है कि अशोक गहलोत को इस चुनाव के लिए नामांकन करना होगा. मगर गहलोत को इस बात की चिंता भी सता रही है कि कांग्रेस प्रेसिडेंट का चुनाव लड़ने पर उनकी सीएम वाली कुर्सी न चली जाए. क्योंकि चंद महीने पहले कांग्रेस के उदयपुर सम्मेलन में 'एक व्यक्ति एक पद' का प्रस्ताव पास हुआ था. इस लिहाज से उन्हें सीएम का पद गंवाना पड़ सकता है. तो क्या वाकई ऐसा होगा, क्या गहलोत जो बार बार राजस्थान की राजनीति करने की बात कहते रहे हैं, वो इसके लिए राज़ी होंगे? वो ऐसा संदेश दे रहे हैं कि पार्टी प्रेसिडेंट का चुनाव वो अपने मन से नहीं बल्कि गांधी परिवार के कहने पर लड़ रहे हैं, तो क्या ऐसे में शशि थरूर की राह मुश्किल नहीं हो जाएगी?

म्यांमार में बंधक  IT प्रफ़ेशनल्स को छुड़ाने के लिए क्या कर रही सरकार?

अच्छी नौकरी और अच्छी सैलरी की चाह में लोग दुनिया की किसी भी कंपनी और किसी भी कोने में काम करने को राज़ी हो जाते हैं. लेकिन कभी कभी ये चाहत उनके लिए बड़ा मुसीबत बन जाती है. कुछ ऐसा ही वाकया हुआ है, करीब 300 इंडियन आईटी प्रोफेशनल्स के साथ. बेहतर अवसर की तलाश में ये लोग थाईलैंड पहुँचने वाले थे, लेकिन पहुँच गए म्यांमार और वहां बंधक बना लिए गए हैं.  आज तक रेडियो को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, म्यांमार सीमा के पास म्यावडी एक जगह है, जहाँ करीब 300 भारतीयों को एक गैंग ने बंधक बनाया हुआ है. इन लोगों को यहां पर साइबर क्राइम करने पर मजबूर किया जा रहा है. मना करने पर उन्हें तरह तरह की यातनाएं दी जाती हैं और रिहाई के एवज में मोटी रकम मांगी जाती है. बंधकों में से लगभग 50 लोग तमिलनाडु से बिलॉन्ग करते हैं और इसलिए कल तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने इन्हें छुड़ाने के लिए केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखी है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप करने की मांग की है. तो इस मामले में अब तक क्या क्या जानकारी सामने आई है, बंधकों के परिजनों का क्या कहना है.

 

क्या दिल्ली में शराब की कमी हो गई है?

दिल्ली की ओर की आबोहवा ख़राब होने लगी है, वहीं सियासी आबोहवा में रह रहकर कथित शराब घोटाले की गंध उठ रही है. बीजेपी दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया पर लगातार हमलावर है और दिल्ली सरकार की नई एक्साइज पॉलिसी सीबीआई जांच की ज़द में है. इस घमासान मचने के बाद केजरीवाल सरकार ने ये एक्साइज पॉलिसी वापस ले ली थी और सितंबर महीने से दोबारा पुरानी वाली पॉलिसी ही लागू कर दी थी.  इस बीच ये ख़बरें आने लगीं कि दिल्ली में शराब की कमी हो गई है. तो क्या सच में ऐसा है? पुरानी एक्साइज पॉलिसी लागू होने के 21 दिन बाद क्या स्टेटस है, क्या दुकानदारों और ख़रीदारों को किसी तरह की दिक़्क़त आ रही है?

क्यों ख़ास है महिला टीम की ODI में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ जीत

हरमनप्रीत कौर की कप्तानी वाली इंडियन टीम इंग्लैंड के दौरे पर गई हुई है. टीम को यहाँ 3-3 मैचों की टी20 और वनडे सीरीज खेलनी है. टी20 सीरीज पहले ही निपट चुका है और इसमें टीम इंडिया को 2-1 से हार झेलनी पड़ी थी. लेकिन भारतीय टीम ने ओडीआई सीरीज में ज़बरदस्त पलटवार किया है और शुरूआती दोनों मैच जीतकर सीरीज अपने नाम कर ली है. कल दूसरे मैच में इंडिया ने इंग्लैंड की टीम को 88 रनों के बड़े अंतर से मात दे दी. कप्तान हरमनप्रीत कौर ने फ्रंट से लीड करते हुए शानदार शतक बनाया और उनकी 143 रनों की नॉट आउट पारी की बदौलत इंडिया ने 333 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया. इसके बाद इंडियन बॉलर्स का मुक़ाबला इंग्लिश टीम नहीं कर पाई और उनकी पूरी पारी 45वें ओवर में 245 के स्कोर पर बिखर गई. इंडिया की तरफ से सीमर रेणुका सिंह ने सबसे ज्यादा 4 विकेट झटके. ये जीत इसलिए भी ख़ास है क्योंकि इंडिया की दिग्गज क्रिकेटर झूलन गोस्वामी की ये आखिरी सीरीज है और इसके बाद वो रिटायर हो जाएंगी. तो इंडियन टीम की इस शानदार जीत पर बातचीत.  

22 सिंतबर 2022 का 'आज का दिन' सुनने के लिए यहां क्लिक करें...

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें