scorecardresearch
 

‘ऑपरेशन लोटस’ की सबसे बड़ी पीड़ित कांग्रेस का BJP का साथ देना दुर्भाग्यपूर्ण: भगवंत मान

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि विधानसभा के विशेष सत्र की पहले मंजूरी देकर बाद में रद्द करने के राज्यपाल के मनमाने और लोकतंत्र विरोधी फैसले के खिलाफ राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट जाएगी. उन्होंने कहा कि लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों और राज्यों के संघीय अधिकारों की रक्षा के लिए इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी जाएगी.

X
पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान
पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान

पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार और राज्यपाल के बीच ठन गई है. विधानसभा के विशेष सत्र बुलाने के फैसले पर राज्यपाल की रोक के बाद मान सरकार सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगी. इस बाबत पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि राज्य सरकार ने अब राज्य से संबंधित अलग-अलग मसलों पर विचार-विमर्श करने के लिए 27 सितंबर को पंजाब विधानसभा का सत्र बुलाने का फैसला किया है. यहां जारी एक बयान में मुख्यमंत्री ने कहा कि विधानसभा के विशेष सत्र की पहले मंजूरी देकर बाद में रद्द करने के राज्यपाल के मनमाने और लोकतंत्र विरोधी फैसले के खिलाफ राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट जाएगी. 

उन्होंने कहा कि लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों और राज्यों के संघीय अधिकारों की रक्षा के लिए इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी जायेगी. भाजपा के ‘ऑपरेशन लोटस’ की हिमायत करने के लिए पंजाब कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि इस अलोकतांत्रिक काम की सबसे बड़ी पीड़ित पार्टी कांग्रेस इस मामले में भगवा पार्टी के हक में खड़ी रही है. 

'कांग्रेस-भाजपा ने क्षेत्रीय पार्टियों को हाशिए पर धकेला'

उन्होंने कहा कि पंजाब में लोकतांत्रिक ढंग से चुनी हुई सरकार को तोड़ने के उद्देश्य वाले इस बुरे काम के लिए कांग्रेस, शिरोमणि अकाली दल और भाजपा ने सांझेदारी डाल ली है. कांग्रेस और भाजपा ने क्षेत्रीय पार्टियों को हाशिए पर धकेल दिया है और वह अब चाहते हैं कि सत्ता सिर्फ इन दोनों पार्टियां के पास ही बनी रहनी चाहिए. 

हथकंडों के आगे नहीं झुकेंगे- भगवंत मान

मुख्यमंत्री ने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) का जन्म ही भ्रष्टाचार-विरोधी मुहिम में से हुआ और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व अधीन पार्टी हर बीतते दिन के साथ मकबूलियत की नई हदें छू रही है. वह हरेक अलोकतांत्रिक कदम का विरोध करेंगे और दबाव के हथकंडों के आगे नहीं झुकेंगे. पंजाब देश के लोगों को यह संदेश देगा कि लोकतंत्र में कोई व्यक्ति विशेष नहीं, बल्कि लोग सबसे ऊपर होते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें