scorecardresearch
 

लोक आस्था का महापर्व छठ संपन्न, व्रतियों ने उदीयमान सूर्य को दिया अर्घ्य

रांची के अलग-अलग घाटों पर श्रद्धालुओं, व्रतियों की भारी भीड़ देखी गई. कोरोना संक्रमण के इस दौर में भी लोग आस्था के इस महापर्व पर बेखौफ नजर आए.

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने भी दिया अर्घ्य बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने भी दिया अर्घ्य
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना के साए में संपन्न हुई छठ पूजा
  • कोरोना के खौफ से बेखौफ नजर आए लोग
  • छठ घाटों पर उमड़ा आस्था का सैलाब

लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा संपन्न हो गई है. छठ व्रतियों  ने संतान की रक्षा और घर-परिवार की समृद्धि की कामना के साथ शनिवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य दिया. सुबह 6.48 बजे उदीयमान सूर्य को अर्घ्य के साथ ही चार दिन का यह व्रत संपन्न हो गया. कोरोना के साए में मने छठ के त्योहार पर कई जगह पाबंदियां रहीं तो कई जगह परंपरा के मुताबिक लोगों ने छठ घाट पहुंचकर सूर्य को अर्घ्य दिया.

झारखंड की राजधानी रांची में उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही धूमधाम और भक्ति भाव के साथ चार दिन तक चलने वाली छठ पूजा संपन्न हो गई. रांची के अलग-अलग घाटों पर श्रद्धालुओं, व्रतियों की भारी भीड़ देखी गई. कोरोना संक्रमण के इस दौर में भी लोग आस्था के इस महापर्व पर बेखौफ नजर आए. घाटों पर भारी भीड़ देखी गई. घाटों पर लोग बड़ी संख्या में जुटे और छठी मैया की पूजा की.

देखें: आजतक LIVE TV

राजधानी रांची समेत झारखंड के अन्य जिलों में जिला प्रशासन के साथ-साथ छठ पूजा समितियों की ओर से अर्घ्य की सभी व्यवस्थाएं कराई गई थीं. कोरोना वायरस के साए में छठ पूजा के लिए गाइडलाइन भी जारी की गई थी. कई जगह गाइडलाइन का पूरा अनुपालन होता नजर आया, वहीं कुछ जगह नियमों की अवहेलना होती भी नजर आई.

बिहार में भी छठ घाटों पर आस्था का सैलाब उमड़ा नजर आया. राजधानी पटना समेत अन्य जिलों में भी व्रती छठ घाट पहुंचे और उदीयमान सूर्य को अर्घ्य दिया. लोक आस्था के इस महापर्व पर क्या आम क्या खास, सभी एक कतार में नजर आए. सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी छठ पूजा का त्योहार मनाया. वहीं, पूर्व डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने भी उदीयमान सूर्य को अर्घ्य दिया.

मुंबई में व्रतियों ने बनाए कृत्रिम तालाब

मुंबई में कोरोना वायरस के कारण महाराष्ट्र सरकार ने समुद्र के तट पर छठ पूजा करने की इजाजत इसबार नहीं दी. कोरोना महामारी को देखते हुए सरकार की ओर से लिए गए इस फैसले को देखते हुए छठ व्रतियों ने अपने घरों में ही छठ पूजा की. कई व्रतियों ने कृत्रिम तालाब का निर्माण किया और उदीयमान सूर्य को अर्घ्य दिया. गौरतलब है कि छठ का महापर्व बिहार और झारखंड का प्रमुख त्योहार है.

(रांची से मृत्युंजय श्रीवास्तव, पटना से उत्कर्ष और मुंबई से एजाज खान के इनपुट के साथ)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें