scorecardresearch
 

महंगाई पर आंदोलन को मिथ्या कहना लोकनायक राम का अपमान, प्रियंका वाड्रा का अमित शाह को जवाब

गृह मंत्री अमित शाह ने आज शाम कांग्रेस के आंदोलन को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का विरोधी बताया था. शाह ने कहा था कि कांग्रेस ने ये विरोध-प्रदर्शन महंगाई या फिर बेरोजगारी के खिलाफ नहीं किया है, बल्कि आज ही के दिन राम जन्म भूमि मंदिर का शिलान्यास हुआ था, ऐसे में इसके विरोध में कांग्रेस ने काले कपड़े पहनकर प्रदर्शन किया.

X
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने गृह मंत्री अमित शाह के बयान पर पलटवार किया है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने गृह मंत्री अमित शाह के बयान पर पलटवार किया है.

कांग्रेस के महंगाई पर प्रदर्शन के बीच राजनीति गरमा गई है. गृह मंत्री अमित शाह के बयान के बाद कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पलटवार किया है. प्रियंका ने कहा है कि महंगाई पर आंदोलन को मिथ्या कहना लोकनायक राम का अपमान होगा. इसके साथ ही प्रियंका ने कहा कि देशभर के गरीबों और मध्य वर्ग के ऊपर पड़ रही महंगाई की मार के खिलाफ लड़ना जन अनुरागी भगवान राम का दिखाया रास्ता है.

बता दें कि गृह मंत्री अमित शाह ने आज शाम कांग्रेस के आंदोलन को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का विरोधी बताया था. शाह ने कहा था कि कांग्रेस ने ये विरोध-प्रदर्शन महंगाई या फिर बेरोजगारी के खिलाफ नहीं किया है, बल्कि आज ही के दिन राम जन्म भूमि मंदिर का शिलान्यास हुआ था, ऐसे में इसके विरोध में कांग्रेस ने काले कपड़े पहनकर प्रदर्शन किया. 

प्रियंका ने पहले राम को स्मरण किया

देर शाम प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर सबसे पहले श्रीराम को स्मरण किया और कहा- 'भये प्रकट कृपाला दीन दयाला, कौशिल्या हितकारी, हर्षित महतारी, मुनि मन हारी अद्भुत रूप निहारी. करुणा सुख सागर, सब गुन आगर, जेहि गावहिं श्रुति संता, सो मम हित लागी, जन अनुरागी प्रकट भये श्रीकंता.'

फिर गृह मंत्री पर किया पलटवार

प्रियंका ने पलटवार किया और कहा- 'देशभर के गरीबों और मध्य वर्ग के ऊपर पड़ रही महंगाई की मार के खिलाफ लड़ना... जन अनुरागी भगवान राम का दिखाया रास्ता है. जो महंगाई बढ़ाकर दुर्बल जन को कष्ट देता है वह भगवान राम पर वार करता है. जो महंगाई के विरुद्ध आंदोलन करने वालों को मिथ्या वचन कहता है वह लोकनायक राम और भारत के जन का अपमान करता है.'

शाह बोले- कांग्रेस ने किया तुष्टीकरण

इससे पहले अमित शाह ने बयान में कहा कि कांग्रेस ने हिडन तरीके से अपीजमेंट की पॉलिसी अपनाई है. कोई ईडी ने समन नहीं किया.. फिर भी विरोध का कार्यक्रम रखा गया. आज सभी के लोग काले कपड़े पहन कर आए, आज ही के दिन राम जन्म भूमि का शिलान्यास किया था. शांतिपूर्ण तरीके से समाधान हुआ था, लेकिन कांग्रेस फिर भी खुश नहीं है. ये राम मंदिर के विरोध के लिए काले कपड़े का इस्तेमाल किया गया है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस हमेशा की तरह तुष्टिकरण की नीति को आगे बढ़ा रही है. लेकिन ये नीति ना पहले कभी देश के लिए सही थी और ना ही आज ये सही है. कांग्रेस को भी इसका नुकसान उठाना पड़ा है और जिस हश्र पर पार्टी खड़ी है, उसकी बड़ी वजह भी तुष्टीकरण ही है.

कांग्रेस ने महंगाई के खिलाफ हल्लाबोला

कांग्रेस ने महंगाई के खिलाफ देशभर में विरोध-प्रदर्शन किया. दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी समेत अन्य नेताओं को हिरासत में ले लिया था. करीब 6 घंटे बाद छोड़ा गया. दरअसल, कांग्रेस के कई सांसद विजय चौक पर धरने पर बैठ गए थे. राहुल कांग्रेस सांसदों के साथ संसद भवन से राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकाल रहे थे. लेकिन पुलिस ने उन्हें पहले ही रोक दिया. पुलिस ने कांग्रेस को इस मार्च की अनुमति नहीं दी थी. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें