scorecardresearch
 

भवानीपुर उपचुनावः मस्जिद के बाद गुरुद्वारा, चुनाव से पहले ममता बनर्जी का धार्मिक दौरा जारी

उपचुनाव से पहले भवानीपुर के गुरुद्वारा में मत्था टेकने जाने से पहले मुख्यमंत्री ममता मुखर्जी (Mamata Banerjee) ने चार टोकरी मिठाई भी चढ़ावे के तौर पर भिजवाई थी जिसमें लड्डू और इमरती शामिल थी.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (File-PTI) पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (File-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भवानीपुर सीट पर 30 सितंबर को होने वाले हैं उपचुनाव
  • 2 दिन पहले ममता ने 16 आना मस्जिद का दौरा किया था
  • भवानीपुर विधानसभा सीट पर करीब 20% मुस्लिम वोटर्स

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भवानीपुर उपचुनाव में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की ओर से मैदान में हैं. 30 सितंबर को होने वाले उपचुनाव से पहले ममता अपने अभियान को लेकर सक्रिय हो गई हैं और उन्होंने बुधवार को भवानीपुर के गुरुद्वारा में मत्था टेका और आशीर्वाद लिया

भवानीपुर के गुरुद्वारा में मत्था टेकने से 2 दिन पहले भी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भवानीपुर चुनावी क्षेत्र में पड़ने वाले 16 आना मस्जिद का दौरा किया था. 

भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र में करीब 20% के आसपास मुस्लिम वोटर्स हैं. जबकि सिख समुदाय और पंजाबी वोटर्स की बात करें तो यह संख्या लगभग 5000 के पास जाती है. ममता ने गुरुद्वारा में मत्था टेकने से पहले चार टोकरी मिठाई भी चढ़ावे के तौर पर भिजवाई थी जिसमें लड्डू और इमरती शामिल थी.

किसानों का मुद्दा अहम रहेगा

ममता बनर्जी करीब 15 मिनट तक गुरुद्वारे में रहीं. इस दौरान उन्होंने वहां सिख समुदाय के लोगों से बात की. उन महिलाओं से भी बात की जो ममता बनर्जी से मिलने के लिए गुरुद्वारा पहुंची थीं. 

इसे भी क्लिक करें --- पश्चिम बंगाल: भवानीपुर उप-चुनाव लड़ने जा रहीं ममता बनर्जी के पास कितनी है संपत्ति?

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी के गुरुद्वारा आने के उपलक्ष्य में सिख समुदाय से बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हुए थे. उनसे जब आजतक ने बात की तो भवानीपुर उपचुनाव में भी किसानों का मुद्दा हावी नजर आया. यहां आए सिख समुदाय के लोगों का कहना था कि वह जब वोट देने जाएंगे तो किसानों का मुद्दा सबसे अहम रहेगा.

बीजेपी उम्मीदवार भी गई थीं गुरुद्वारा

सीएम ममता बनर्जी के भवानीपुर गुरुद्वारा आने से पहले बीजेपी उम्मीदवार प्रियंका टिबरेवाल ने भी गुरुद्वारा में दर्शन किया था. इस दौरान उन्होंने आरोप लगाया था कि ममता सिर्फ चुनाव के वक्त ही गुरुद्वारा आती हैं जबकि वह हमेशा मस्जिद जाती हैं.

 
इस आरोप के जवाब में ममता बनर्जी के भाई कार्तिक बनर्जी ने कहा कि ये गलत आरोप है और ममता हमेशा गुरुद्वारा जाती हैं. 

उपचुनाव में ममता के सामने बीजेपी प्रत्याशी प्रियंका टिबरेवाल पेशे से वकील हैं और वह बीजेपी युवा मोर्चा में उपाध्यक्ष भी हैं. वह साल 2014 में बीजेपी से जुड़ी थीं और सांसद बाबुल सुप्रियो की लीगल एडवाइजर भी रह चुकी हैं.

इस बीच बीजेपी की ओर से भवानीपुर उपचुनाव के लिए स्टार प्रचारकों की सूची भी जारी कर दी गई है, जिसमें केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और हरदीप पुरी का नाम भी शामिल है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें