scorecardresearch
 

'काला पानी का पहला कैदी फजल था', ओवैसी बोले- आजादी में योगदान देने वाले मुस्लिमों को भी पीएम याद करें

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि झांसी की रानी को तो याद किया जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं खुदा बख्श (सेना के इंचार्ज) उनकी सेवा करते हुए शहीद हो गए थे. एक महिला जो हमेशा झांसी की रानी के साथ थी और कोटा के युद्ध के दौरान शहीद हो गई थी- उसका नाम मंजर था- वह एक मुस्लिम थी.

X
AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई में मुस्लिमों के योगदार को गिनाया. (फाइल फोटो) AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई में मुस्लिमों के योगदार को गिनाया. (फाइल फोटो)

'हर घर तिरंगा' अभियान के बीच AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने 'हिंदुस्तान की आजादी में मुसलमानों की भूमिका' के बारे में बताया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर खुलकर हमला बोला. ओवैसी ने कहा कि देश की आजादी में योगदान देने वाले मुस्लिमों को भी प्रधानमंत्री को याद करना चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने गोडसे को लेकर भी तंज कसा और कहा कि आजादी के लिए जमीन हमारे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने तैयार की थी, ना कि गोडसे ने.

ओवैसी ने कहा कि काला पानी का पहला कैदी हैदराबादी- फजल-ए-हक खैराबादी था. उन्होंने कहा कि मैं मुसलमानों से नफरत करने वालों से पूछता हूं- क्या आप जानते हैं माल्टा कहां है? शेख उल हिंद महमूद उल हसन को मक्का से गिरफ्तार किया गया था. तीन साल उन्हें माल्टा जेल में रखा गया था.

झांसी की रानी को साथ मंजर और खुदा बख्श ने दिया

झांसी की रानी को तो याद किया जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं खुदा बख्श (सेना के इंचार्ज) उनकी सेवा करते हुए शहीद हो गए थे. एक महिला जो हमेशा झांसी की रानी के साथ थी और कोटा के युद्ध के दौरान शहीद हो गई थी- उसका नाम मंजर था- वह एक मुस्लिम थी.

बताएं- 6 दिसंबर और अगस्त में क्या हुआ...

उन्होंने आगे कहा कि जो लोग तिरंगे के बारे में बात करते हैं- क्या वे 6 दिसंबर को क्या हुआ और पिछले साल अगस्त में क्या हुआ, इस बारे में भी बात करेंगे? विभाजन के लिए मुसलमान जिम्मेदार नहीं हैं.

गांधी के लिए वफादार थे भटकनिया

ओवैसी ने कहा कि भटकनिया अंसारी कौन थे? वे महात्मा गांधी के लिए खाना बनाते थे. अंग्रेजों ने उन्हें महात्मा गांधी के भोजन में जहर देने के लिए कहा. लेकिन वह दौड़ता हुआ आया और गांधी से कहा कि वह खाना ना खाएं. लेकिन, आप देखिए महात्मा गांधी को गोली मारने वाले कौन लोग थे. उन्होंने आगे कहा कि भारत की आजादी के लिए शहीद हुए पहले पत्रकार मोहम्मद मौलवी बकर थे, उनकी हत्या अंग्रेजों ने की थी. 

उमर सुभानी और अल्लाह बख्श को याद करो...

उमर सुभानी ने बापू को ब्लैंक चेक दिया था. दिल्ली में आजाद सम्मेलन का आयोजन करने वाले अल्लाह बख्श ने दो राष्ट्र सिद्धांत को खत्म कर दिया था. उनकी सरकार हटा दी गई और सावरकर की महासभा और जिन्ना की मुस्लिम लीग ने सरकार बना ली.

चुनौती है- 10 मिनट के लिए मेरा सामना करो

ओवैसी ने चेलैंज दिया और कहा- मैं आपको चुनौती देता हूं कि 10 मिनट के लिए मेरा सामना करो, तुम भाग जाओगे. उन्होंने कहा कि गोडसे ने आजादी के लिए आधार नहीं बनाया है, सभी स्वतंत्रता सेनानियों ने बनाया है. जो लोग मुसलमानों से वफादारी दिखाने के लिए कह रहे हैं, मैं उनसे कहूंगा, जो लोग गंजे हैं वे दुनिया में सबसे अच्छी टोपी पहनेंगे. फिर दूसरों को इसे पहनने के लिए कहेंगे. अगर आपको भारतीय होने पर गर्व है तो आपको अपने अतीत पर भी गर्व होना चाहिए.

देश में सबसे ज्यादा असुरक्षित मुस्लिम

हमारे प्रधानमंत्री को बताने वाले लोगों ने RSS को हमारी नींव बताया है. मैं उनसे पूछता हूं कि क्या यह सही नहीं है कि 1950 में RSS भारतीय संविधान के खिलाफ था? भारत में अगर किसी का सबसे ज्यादा अपमान होता है तो वो है 'मुसलमान'. भारत में अगर कोई सबसे ज्यादा असुरक्षित है तो वो है मुसलमान. भारत में अगर किसी को सबसे ज्यादा उपेक्षित किया जाता है तो वह मुसलमान है.

पीएम को इनके बारे में भी बोलना चाहिए

गोरक्षक को स्वतंत्रता नहीं देनी चाहिए जो उन्हें मिल रही है, जो दूसरे धर्म के बारे में गलत बोलते हैं. मुझे उम्मीद है कि 15 अगस्त को पीएम राष्ट्र को संबोधित करेंगे, वह उत्पीड़ितों के बारे में बोलेंगे. मुझे उम्मीद है कि वह अल्लामा फजल ए कैराबादी, हुसैन अहमद मदनी, मौलाना काफी के बारे में बोलेंगे. पीएम चीन के बारे में नहीं बोलेंगे, जिसने भारतीय क्षेत्र पर कब्जा कर लिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें