scorecardresearch
 

ये एक कमजोर सरकार है, प्रधानमंत्री चीन से डर रहे हैं: असदुद्दीन ओवैसी

AIMIM चीफ असुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. मोदी सरकार की चीन नीति को लेकर उन्होंने ट्वीट कर कई सवाल दाग दिए हैं. ओवैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री चीन से डर रहे हैं, यह एक कमजोर सरकार है.

X
AIMIM चीफ असुद्दीन ओवैसी AIMIM चीफ असुद्दीन ओवैसी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • असदुद्दीन ओवैसी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना
  • चीन को लेकर सरकार की रणनीति पर उठाए सवाल

AIMIM चीफ असुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. मोदी सरकार की चीन नीति को लेकर उन्होंने ट्वीट कर कई सवाल दाग दिए हैं. ओवैसी ने जोर देकर कहा है कि पीएम सो रहे हैं, वे इस मुद्दे पर कुछ भी बोलने से बच रहे हैं.

ट्वीट कर ओवैसी ने लिखा है कि कहावत है कि जब कोई सो रहा होता है, तो हॉर्न का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. हमारे पीएम भी सो रहे हैं. वे कब ये बात मानेंगे कि हमे चीन से खतरा है. क्या उन्होंने लद्दाख में यथा स्थिति को मान लिया है?

AIMIM चीफ तो यहां तक दावा कर गए हैं कि पिछले दो सालों से चीनी सेना लद्दाख के हिस्सों पर अपना कब्जा जमाए बैठी है. प्रधानमंत्री की महान योजनाओं की वजह से भारत इतना कमजोर हो गया है. वे कहते हैं कि क्या यही पीएम मोदी लाल आंख वाली रणनीति है.  क्या चीन के साथ ज्यादा व्यापार कर उसे डराने का प्रयास हो रहा है? क्या उन्हें लगता है कि चीन इस तरीके से हमारी जमीन को छोड़ देगा?

ओवैसी ने तल्ख अंदाज में कहा है कि वर्तमान की सरकार कमजोर है. एक डरपोक प्रधानमंत्री हैं जो चीन से डर गया है. AIMIM चीफ ने मांग की है कि पीएम मोदी को सामने से आकर जिम्मेदारी लेनी चाहिए. उनके मुताबिक सरकार के चीन को लेकर लिए गए फैसलों की वजह से भारतीयों का सिर शर्म से झुक गया है.

इससे पहले 29 जून को मध्यप्रदेश के भोपाल में दौरे पर पहुंचे ओवैसी ने कहा था कि अग्निवीर योजना देश हित में नहीं है, जब चीन सामने खड़ा है और कश्मीर में पंडितों को अभी भी मारा जा रहा है. अब जो पहले से फौजी हैं और जो अग्निवीर बनेंगे तो फिर क्यों फौज में असंतुलन बनाया जा रहा है.

असदुद्दीन ओवैसी पीएम मोदी के संसद भवन की नई बिल्डिंग की छत पर अशोक स्तंभ का उद्घाटन करने पर भी सवाल उठा चुके हैं. AIMIM चीफ ने कहा था कि अशोक स्तंभ का उद्घाटन पीएम को नहीं, लोकसभा स्पीकर को करना चाहिए था. ये संविधान के खिलाफ है. अभी संसद भवन की बिल्डिंग बनीं नहीं और प्रधानमंत्री अशोक स्तंभ का उद्घाटन करने पहुंच जाते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें