scorecardresearch
 

Air India ने फ्लाइट में शराब पॉलिसी और क्रू की ट्रेनिंग को लेकर क्या बदलाव किया?

एअर इंडिया (Air India) ने अपनी इन-फ्लाइट शराब पॉलिसी में बदलाव किए हैं. एअर इंडिया ने अपने क्रू को यह भी बताया है कि शराब परोसने से इनकार करने के लिए 'क्या करें और क्या न करें'. पॉलिसी में सबसे बड़ा बदलाव यह है कि अब यात्री फ्लाइट में अपनी शराब नहीं पी सकेंगे.

X
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

पेशाब कांड के बाद एअर इंडिया (Air India) ने अपनी इन फ्लाइट शराब पॉलिसी में कई बदलाव किए हैं. इसमें सबसे बड़ा चेंज यह है कि अब यात्री को जब तक क्रू मेंबर्स शराब नहीं परोसेंगे वह फ्लाइट में शराब का सेवन नहीं कर सकेगा. हालांकि, नई पॉलिसी में क्रू मेंबर्स से कहा गया है कि वह यात्री को चतुराई से शराब परोसने के लिए मना करें.

बता दें कि हाल ही में फ्लाइट में सफर के दौरान हुईं दुर्व्यवहार की दो घटनाओं के बाद DGCA ने टाटा ग्रुप के स्वामित्व वाली एयरलाइन Air India पर जुर्माना लगाया था. बता दें कि यात्रियों को फ्लाइट में शराब सर्व करना एक प्रथा है, जो कई सालों से चली आ रही है.

नई पॉलिसी को 19 जनवरी से लागू किया गया है. पॉलिसी में क्रू को ऐसे यात्रियों से चौकस रहने की हिदायत दी गई है, जो फ्लाइट के दौरान अपनी शराब का सेवन कर रहे हों.

एअर इंडिया ने अपने क्रू को यह भी बताया है कि शराब परोसने से इनकार करने के लिए 'क्या करें और क्या न करें'.

1. केबिन क्रू को विनम्र रहना है. यात्री को यह चतुराई से बताना है कि उसे अब और शराब नहीं परोसी जा सकती.

2. क्रू को हिदायत दी गई है कि मेहमान (यात्री) को 'शराबी' जैसे शब्द से संबोधित न करें. उन्हें विनम्रता के साथ चेतावनी दें कि उनका व्यवहार स्वीकार करने लायक नहीं है.

3. यात्री से यह कहने के बाद कि उन्होंने पर्याप्त मात्रा में शराब पी ली है, उन्हें 'आखिरी ड्रिंग' देने के लिए राजी न हों.

4. अगर यात्री तेज आवाज में बात करने लगते हैं तब भी क्रू को अपनी बात विनम्र लहजे में रखनी है. लेकिन मना करना जारी रखना है.

5. केबिन क्रू को यह हिदायत भी दी गई है कि उन्हें यह नहीं सोचना है कि मना करने पर मामला खत्म हो गया है.

6. नई पॉलिसी के मुताबिक केबिन क्रू को नशे में धुत यात्रियों से भी सम्मानपूर्वक व्यवहार करना है.

एयरलाइन ने पॉलिसी में इस बात का उल्लेख भी किया है कि मजे के लिए शराब पीने और शराब पीकर हंगामा करने के बीच अंदर है. बता दें कि एअर इंडिया अपने केबिन क्रू को यह अधिकार देती है कि वह किसी भी संदिग्ध यात्री या ऐसे यात्री जो खतरा पैदा कर सकते हैं को बोर्डिंग करते समय फ्लाइट में चढ़ने से रोक सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें