scorecardresearch
 

आज का दिन 14 जनवरी: हरीश रावत का चुनाव न लड़ने का इशारा देने के पीछे सियासी वजहें क्या हो सकती हैं?

उत्तराखंड कांग्रेस में यूं तो सब ठीक ठाक ही नजर आ रहा था लेकिन कुछ दिन पहले पार्टी के नेता हरीश रावत ने कांग्रेस लीडरशिप को पत्र लिख कर असन्तुष्टि जताई. कहा कि चुनाव करीब आते ही उन्हें कांग्रेस ने उत्तराखंड छोड़ कर पंजाब का प्रभारी बना दिया, जिस वजह से वो उन्हें अपने राज्य उत्तराखंड में चुनाव की तैयारियों के लिए वक्त कम मिल पाया.

हरीश रावत. -फाइल फोटो. हरीश रावत. -फाइल फोटो.

सपा में नेताओं की इंट्री क्या पार्टी के यूपी में मज़बूत होने की गवाही है? उत्तराखंड में क्यों बदले-बदले हरीश रावत नज़र आते हैं? एस्ट्राजेनिका की तीसरी डोज़ कोरोना के ख़िलाफ कारगर बताने वाली रिपोर्ट की बुनियाद क्या है? और भारत बनाम दक्षिण अफ़्रीका का टेस्ट मैच किसके पाले में जाता दिख रहा है?  

आजतक रेडियो पर हम रोज़ लाते हैं देश का पहला मॉर्निंग न्यूज़ पॉडकास्ट ‘आज का दिन’, जहां आप हर सुबह अपने काम की शुरुआत करते हुए सुन सकते हैं आपके काम की ख़बरें और उन पर क्विक एनालिसिस. साथ ही, सुबह के अख़बारों की सुर्ख़ियाँ और आज की तारीख में जो घटा, उसका हिसाब किताब. आगे लिंक भी देंगे लेकिन पहले जान लीजिए कि आज के एपिसोड में हमारे पॉडकास्टर जमशेद क़मर सिद्दीक़ी किन ख़बरों पर बात कर रहे हैं.   

सपा कितनी मज़बूत?   

उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव के क़रीब आते ही रोज़ाना नए सियासी नज़ारे देखने को मिल रहे हैं. लगातार कुछ न कुछ हलचल बनी ही हुई है. तीन दिन पहले ही यूपी सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने भाजपा छोड़ने का ऐलान कर सबको चौंकाया था. कल भी एक दिन में 4 भाजपा विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया जिसमें मंत्री धर्म सिंह सैनी, विधायक मुकेश वर्मा, विनय शाक्य और बाला प्रसाद अवस्थी शामिल रहे. अब ऐसे स्थिति में लोगों के मन में एक जनरल परसेप्शन बन जाता है, कि जिस पार्टी में नेता शामिल हो रहे हैं, वो पार्टी जरूर मजबूत स्थिति मे है. तो सपा चुनावी लिहाज से मजबूत स्थिति में है? बता रहे हैं इंडिया टुडे के सीनियर असिस्टेंट एडिटर प्रभाष के दत्ता से...  

क्यों बदले हैं हरीश रावत के सुर?   

उत्तराखंड कांग्रेस में यूं तो सब ठीक ठाक ही नजर आ रहा था लेकिन कुछ दिन पहले पार्टी के नेता हरीश रावत ने कांग्रेस लीडरशिप को पत्र लिख कर असन्तुष्टि जताई. कहा कि चुनाव करीब आते ही उन्हें कांग्रेस ने उत्तराखंड छोड़ कर पंजाब का प्रभारी बना दिया, जिस वजह से वो उन्हें अपने राज्य उत्तराखंड में चुनाव की तैयारियों के लिए वक्त कम मिल पाया. बहस इस ओर भी मुड़ी थी कि कांग्रेस रावत से इतर भी उत्तराखंड में चेहरे देख रही है, जिस वजह से रॉवत नाराज़ हैं. क्या पार्टी हाईकमान की तरफ से कोई कोशिश हुई है या हरीश रावत की ये कोई दूसरी टैक्टिक है? बता रही हैं इंडिया टुडे टीवी में डेप्यूटी एडिटर सुप्रिया भारद्वाज  

कोरोना का कहर जारी 

Anglo-Swedish बायोफॉर्मा कंपनी ने अपने एक स्टडी में पाया कि AstraZeneca वैक्सीन की तीसरी डोज ओमिक्रॉन के खिलाफ काफी प्रभावी है. ये समझना जरूरी है कि इस स्टडी का आधार क्या रहा और इसे एक्ज़िक्यूट कैसे किया गया. ये बता रहे हैं यूके के नेशनल हेल्थ सर्विस में डॉक्टर अविरल वत्स     

क्रिकेट - किसका पलड़ा भारी?
भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेला जा रहा आखिरी टेस्ट मैच अब फंस गया है. कल मैच का तीसरा दिन था, पहले की तरह ही भारतीय बल्लेबाज एक-एक कर के धाराशाही होते दिखे. खेल के 2 दिन बचे हैं और एक ओर साउथ अफ्रीका को जीत के लिए 111 रनों की दरकार है तो वहीं दूसरी ओर भारत जीत से 8 विकेट दूर है. अब ऐसी स्थिति में मैच किस करवट बैठता दिख रहा है, और सीरीज़ किसके हाथ जाती दिख रही है, बता रहे हैं आज तक रेडियो के स्पोर्टस् जर्नलिस्ट मो. इकबाल.

14 जनवरी का 'आज का दिन' सुनने के लिए यहां क्लिक करें 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×