scorecardresearch
 

'मुंबई आपके लिए सिर्फ जमीन है, लेकिन हमारे लिए मातृभूमि', उद्धव ठाकरे ने बीजेपी को दी चेतावनी

महाराष्ट्र में बीएमसी चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने तैयारी शुरू कर दी है. शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने भी चुनावी सभाएं तेज कर दी हैं. उन्होंने बुधवार को गोरेगांव में पार्टी कार्यकर्ताओं की रैली की. इस दौरान उन्होंने बीजेपी और एकनाथ शिंदे पर जमकर हमला बोला. साथ ही उन्होंने अमित शाह को चुनौती देते हुए बीएमसी चुनाव में बीजेपी को करार हार देने का दावा किया.

X
उद्धव ठाकरे ने गोरेगांव में पार्टी कार्यकर्ताओं की रैली को संबोधित किया (फाइल फोटो)
उद्धव ठाकरे ने गोरेगांव में पार्टी कार्यकर्ताओं की रैली को संबोधित किया (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र में सत्ता छिनने के बाद शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे एक बार फिर फुलफॉर्म में नजर आ रहे हैं. उद्धव ठाकरे ने गोरेगांव में बुधवार को पार्टी कार्यकर्ताओं की रैली को संबोधित करते हुए विरोधियों पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि मुंबई आपकी नजर में बेचने के लिए सिर्फ एक जमीन है लेकिन यह हमारे लिए यह मातृभूमि है. जो हमारी मां पर नजर डालेगा उसे राजनीति से बाहर का रास्ता दिखा देंगे.

वह बोले- अमित शाह ने कहा था कि शिवसैनिकों को जमीन दिखाएंगे. तुम हमको जमीन दिखाओगे तो हम तुमको आसमान दिखाएंगे.

उन्होंने अमित शाह को चुनौती देता हूं कहा कि अगर आपमें हिम्मत है तो एक महीने में बीएमसी चुनाव करवाएं और जल्द विधानसभा चुनाव करवाए लें. हम आपको जमीन दिखाएंगे. उन्होंने कहा कि पहले भी कई निजाम और शाह ने मुंबई पर कब्जा करने की कोशिश की, लेकिन अपने नापाक प्रयास में असफल रहे.

उन्होंने रैली में उमड़ी भीड़ देखकर कहा कि आज की भीड़ इतनी है तो दशहरा रैली का क्या होगा? उन्होंने कहा कि इतनी भीड़ है इसलिए शिवसेना जो कहती है वही करती है और आपको घर-घर जाकर बताना होगा कि उसने क्या किया है. इस बार दशहरा रैली शिवतीर्थ (शिवाजी पार्क) में ही होगी. 

संजय राउत टूट जाएंगे लेकिन झुकेंगे नहीं

पूर्व सीएम ने संजय राउत को लेकर कहा कि वह मंच पर नहीं हैं फिर भी उनकी कुर्सी रखी गई है. मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि वह किसी सेना में शामिल नहीं हुए हैं. वह उनमें से हैं, जो टूट जाएंगे लेकिन झुकेंगे नहीं. 

आज-कल पिता चुराना वाला गिरोह घूम रहा

उद्धव ठाकरे ने सीएम एकनाथ शिंदे पर तंज सकते हुए कहा- इन दिनों एक गिरोह घूम रहा है जो पिता को चुराता है. पहले मैंने बच्चों की चोरी करने वाला गिरोह देखा है लेकिन यह नया गिरोह है. उन्होंने कहा कि ये देशद्रोही ढोकला खाने के लिए सूरत गए थे क्योंकि वे हमारी मिर्ची का ठेचा नहीं पचा सके.

शाहनीति अब हमें नहीं तोड़ पाएगी

उद्धव ठाकरे ने कहा कि जनसंघ पहला संगठन है, जिसने संयुक्त महाराष्ट्र के आंदोलन में दरार पैदा की. ये उस कबीले से आते हैं, जो टूटते ही हैं. उन्होंने कहा कि बीएमसी में हर पद पर उनकी उचित हिस्सेदारी थी. मेरे शिवसैनिकों ने पूरी मेहनत की और उनके पास बड़े पद थे.

पूर्व सीएम ने बीजेपी पर हमला बोला कहा कि अब बंटवारे की कोई राजनीति नहीं चलेगी. हिंदू, गैर हिंदू, मराठी, गैर मराठी, गुजराती और उत्तर भारतीय, सभी मेरे साथ हैं क्योंकि मेरे सैनिकों ने उन सभी की मदद की है. उन्होंने कहा कि शाहनीति अब हमें नहीं तोड़ पाएगी.

वेदांता परियोजना वापस लाने की करेंगे कोशिश

उद्धव ठाकरे ने बीजेपी पर हमला बोला कि वे चीते लाए लेकिन बड़े पैमाने पर उनकी मार्केटिंग की. उन्होंने कहा कि बीजेपी वेदांता परियोजना महाराष्ट्र से गुजरात ले गई.

उन्होंने कहा कि मुझे आज पता चला है कि इस परियोजना के लिए केंद्र और ज्यादा सब्सिडी देगी. इससे पता चलता है कि उन्होंने पहले ही इस परियोजना को हमारे राज्य से हटाने का फैसला कर लिया था. वह बोले कि- जरूरत पड़ने पर वेदांता परियोजना को वापस महाराष्ट्र लाने के मुद्दे पर काम करेंगे.

खोखा देकर सरकार बनानी है तो चुनाव क्यों?

पूर्व सीएम ने विरोधियों पर हमला बोलते हुए कहा- क्या आपके पास भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिए एक चेहरा भी है? यह एक 'खोखा सरकार' है. उन्होंने कहा कि जब आपको खोखा देकर ही सरकार बनानी होती है तो आप चुनाव ही क्यों लड़ते हैं?

पूर्व सीएम ने राज ठाकरे का नाम लिए बिना उन पर हमला बोला. उन्होंने कहा- अब वे आपकी ताकत जान गए हैं, इसलिए वे मुन्नाभाई को भी अपने साथ ले गए हैं.

अमित शाह को दिखाएंगे युद्ध क्या होता है?

उद्धव ठाकरे ने कहा- मैंने सुना है कि पीएम बीएमसी चुनाव प्रचार के लिए आ रहे हैं. गृह मंत्री, हमारे विरोधी और मुन्नाभाई (राज ठाकरे) भी मौजूद रहेंगे. मैं इंतजार कर रहा हूं कि वे सब आएं और हम पर हमला करें. मैं अमित शाह को चुनौती देता हूं कि वे आएं और हमसे लड़ें. हम उन्हें दिखाएंगे कि युद्ध क्या होता है. 

पिछले दिनों महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना के लिए कहा था कि बीएमसी चुनाव लड़ लो क्योंकि यह उसका आखिरी चुनाव होगा. इस पर उद्धव ने जवाब देते हुए कहा कि मैं यह दावा करता हूं कि यह उनका आखिरी चुनाव है. 

इसके बाद उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा- मैं आप सभी से अपील करता हूं कि आप इस चुनाव को ऐसे लड़ें, जैसे यह हमारा पहला चुनाव है. जैसे एक बार आशा भोसले ने कहा था कि वह हर गाना ऐसे गाती हैं, मानो वह उनका पहला गाना हो.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें