scorecardresearch
 

शिवसेना राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू का करेगी समर्थन, उद्धव का ऐलान

उद्धव ठाकरे का यह फैसला चौंकाने वाला है क्योंकि शिवसेना के सांसद संजय राउत विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के पक्ष में थे. वहीं शिवसेना के कुछ सांसद द्रौपदी मुर्मू का समर्थन कर रहे थे.

X
राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू को उद्धव ठाकरे का भी समर्थन मिला
राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू को उद्धव ठाकरे का भी समर्थन मिला
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उद्धव ने किया राष्ट्रपति चुनाव में NDA उम्मीदवार के समर्थन का ऐलान
  • उद्धव का फैसला MVA के लिए झटका

President Election 2022: राष्ट्रपति चुनाव में उद्धव ठाकरे NDA उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) को सपोर्ट करने का मन बना चुके हैं. राष्ट्रपति चुनाव में उद्धव ठाकरे ने शिवसेना की तरफ से समर्थन का ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि शिवसेना के सांसदों ने मुझ पर कोई दबाव नहीं डाला, लेकिन उन्होंने अनुरोध किया. ऐसे में उनके सुझाव को देखते हुए हम राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करने जा रहे हैं. उद्धव ने आगे कहा कि हमें खुशी है कि एक अनुसूचित जनजाति की महिला राष्ट्रपति बन रही हैं. 

ऐसे में साफ है की उद्धव का यह फैसला महाविकास अघाड़ी (MVA) गठबंधन के लिए भी झटका है. दरअसल, MVA के बाकी दोनों साथी कांग्रेस और शरद पवार की पार्टी नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP), विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा का समर्थन कर रही है. लेकिन अब जब उद्धव ने एनडीए उम्मीदवार के समर्थन की बात कह दी है तो जाहिर तौर पर माना जा रहा है कि उद्धव ने संजय राउत की राय को दरकिनार करके पार्टी के सांसदों की बात मान ली है.

बता दें कि बीते सोमवार शिवसेना की बैठक हुई थी. जिसमें पार्टी के 19 में से सिर्फ 11 सांसद ही शामिल हुए थे. इनमें से ज्यादातर सांसदों ने उद्धव से अनुरोध किया था कि वे राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करें. लेकिन संजय राउत का कहना था कि शिवसेना को यशवंत सिन्हा का सपोर्ट करना चाहिए.  हालांकि मामले पर आखिरी फैसला उद्धव ठाकरे को ही लेना था.

इसके अलावा तेलुगु देशम पार्टी ने सोमवार को भारत के राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए की तरफ से उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को समर्थन देने का फैसला किया है. TDP ने कहा कि उनकी पार्टी हमेशा सामाजिक न्याय के लिए प्रतिबद्ध है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एन चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि टीडीपी की रणनीतिक समिति ने देश में शीर्ष पद के लिए आदिवासी महिला नेता का समर्थन करने का फैसला किया. उन्होंने कहा कि टीडीपी ने पहले भी भारत के राष्ट्रपति पद के लिए केआर नारायणन और एपीजे अब्दुल कलाम की उम्मीदवारी का समर्थन किया था और ये सामाजिक न्याय के लिए पार्टी की प्रतिबद्धता का उत्कृष्ट उदाहरण है.

उन्होंने कहा कि जीएमसी बालयोगी के लोकसभा अध्यक्ष और प्रतिभा भारती के विधानसभा अध्यक्ष बनने के पीछे टीडीपी का हाथ है, उन्होंने कहा कि किंजारापु येरान नायडू पार्टी के समर्थन से ही केंद्रीय मंत्री बने.
 

18 जुलाई को होना है राष्ट्रपति चुनाव

देश में 18 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव होना है और उसी दिन से संसद का मॉनसून सत्र भी शुरू हो रहा है. ऐसे में चुनाव के बाद 21 जुलाई को देश को नया राष्ट्रपति मिलेगा. चुनाव में वोटिंग के लिए ख़ास इंक वाला पेन इस्तेमाल किया जाएगा. वहीं अपना वोट देने के लिए 1,2,3 लिखकर पसंद बतानी होगी. लेकिन चुनाव में पहली पसंद नहीं बताने पर वोट रद्द हो जाएगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें