scorecardresearch
 

PMC-MSC बैंक के विलय की तैयारी में उद्धव सरकार, कस्‍टमर्स को मिलेगी राहत

पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (PMC) बैंक का विलय महाराष्ट्र राज्य सहकारी (MSC) बैंक में करने की तैयारी शुरू हो गई है. महाराष्ट्र सरकार ने पीएमसी बैंक के उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए यह कदम उठाया है.

पीएमसी बैंक का होने वाला है विलय पीएमसी बैंक का होने वाला है विलय

  • PMC का महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक में विलय होने वाला है
  • महाराष्ट्र सरकार ने इस संबंध में आरबीआई से भी की बात

आरबीआई की पाबंदी झेल रहे पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (PMC) का जल्‍द विलय होने वाला है. दरअसल, उद्धव सरकार ने पीएमसी बैंक के उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए महाराष्ट्र राज्य सहकारी (MSC) बैंक में विलय की तैयारी शुरू कर दी है.

जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र सरकार ने इस संबंध में आरबीआई से भी बात की है. कैबिनेट मंत्री जयंत पाटिल ने कहा कि मैंने पीएमसी बैंक के विलय को लेकर एमएससी बैंक के डायरेक्‍टर से बात की है. अगर जरूरत होगी तो राज्‍य सरकार इसकी सिफारिश आरबीआई से करेगी. एमएससी बैंक की आर्थिक स्थिति ठीक है.

आरबीआई की पाबंदी झेल रहा पीएमसी बैंक

नियमों के उल्‍लंघन और गड़बड़ी को लेकर आरबीआई ने 6 महीने के लिए पीएमसी बैंक पर पाबंदी लगा दी है. दरअसल, पीएमसी बैंक के मैनेजमेंट पर आरोप है कि नियमों को ताख पर रखकर हाउसिंग डेवलपमेंट एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर (HDIL) को लोन दिया गया. पीएमसी बैंक की ओर से ये कर्ज ऐसे समय में दिया गया जब HDIL दिवालिया होने की प्रक्रिया से गुजर रही थी. यही नहीं, पीएमसी बैंक ने इस मामले में आरबीआई को भी गुमराह किया. यही वजह है कि केंद्रीय बैंक ने पाबंदी लगा दी.

आरबीआई ने क्‍या लगाई है पाबंदी?

आरबीआई ने पीएमसी बैंक के ग्राहकों के कैश निकालने की लिमिट तय कर दी गई है. शुरुआती दिनों में बैंक के ग्राहकों के लिए यह लिमिट सिर्फ 1 हजार रुपये थी. हालांकि बाद में आरबीआई ने इस लिमिट को कई बार बढ़ाया. आरबीआई के फैसले की वजह से बैंक के ग्राहकों को 6 महीने तक नया लोन नहीं मिल सकता है. इन हालातों में जरूरतमंद ग्राहकों को रोजमर्रा की जिंदगी में तरह-तरह की परेशानियां झेलनी पड़ रही है.

पीएमसी बैंक की आखिरी एनुअल रिपोर्ट के मुताबिक बैंक में ग्राहकों के 11 हजार 617 करोड़ रुपये डिपॉजिट हैं. इनमें टर्म डिपॉजिट 9 हजार 326 करोड़ रुपये के करीब है. वहीं डिमांड डिपॉजिट के तौर पर 2 हजार 291 करोड़ रुपये जमा हैं. बता दें कि पीएमसी बैंक की 137 शाखाएं हैं और यह देश के टॉप-10 को-ऑपरेटिव बैंकों में से एक है. इस बैंक का मुख्‍यालय मुंबई में है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें