scorecardresearch
 

शरद पवार से मिले संजय राउत, कहा- नहीं हुई कोई राजनीतिक चर्चा

शिवसेना नेता संजय राउत ने शनिवार को शरद पवार से उनके घर जाकर मुलाकात की. इस मुलाकात के बाद राउत ने कहा कि उनके और पवार के पारिवारिक संबंध हैं.

शिवसेना नेता संजय राउत (फाइल फोटोः आज तक) शिवसेना नेता संजय राउत (फाइल फोटोः आज तक)

  • संजय राउत ने किया पारिवारिक संबंध का जिक्र
  • पिछले कुछ दिनों के घटनाक्रम को बताया वजह

शिवसेना नेता संजय राउत ने शनिवार को शरद पवार से उनके घर जाकर मुलाकात की. इस मुलाकात के बाद राउत ने कहा कि उनके और पवार के पारिवारिक संबंध हैं.

उन्होंने कहा, मेरे और पवार के पारिवारिक रिश्ते हैं, इसलिए उनसे मिलने आया था. उनके साथ किसी प्रकार की राजनीतिक चर्चा नहीं हुई. शिवसेना के नेता ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में शरद पवार के साथ जो भी हुआ, मुझे लगा कि उनसे मिलना चाहिए.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय की रिपोर्ट में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के अध्यक्ष शरद पवार और उनके भतीजे अजीत पवार का भी नाम सामने आया था. इसके बाद शरद पवार ने ईडी के दफ्तर जाने की घोषणा कर दी थी.

पवार के ऐलान के बाद एहतियातन ईडी दफ्तर के आसपास धारा 144 लागू करने के साथ ही प्रशासन ने उनसे न आने का अनुरोध किया. तब जाकर पवार माने.

शिवसेना नेता राउत ने बैंक घोटाले में पवार का नाम आने को बदले की राजनीति बताया था. बता दें कि पवार के भतीजे अजीत पवार ने शुक्रवार को विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. अजीत पवार राजनीति छोड़ने पर अड़े हैं. इसे लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी शरद पवार से बात की है .

क्या है बैंक घोटाला?

महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक घोटाले में आरोप है कि शरद पवार के साथ ही जयंत पाटिल समेत बैंक के अन्य निदेशकों ने कथित तौर पर चीनी मिल को कम दरों पर कर्ज दिलवाए थे. चीनी मिल के डिफॉल्टर घोषित हो जाने पर उसकी संपत्तियों को सस्ती कीमतों पर बेच दिया था.

संपत्तियों की बिक्री के साथ ही सस्ते लोन देने से बैंक को 2007 से 2011 तक, चार साल की अवधि में लगभग एक हजार करोड़ रुपये का नुकसान हुआ.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें