scorecardresearch
 

'50 खोखे, एकदम ओके' पर अठावले ने किया पलटवार, बोले- चलते रहो इक्के

महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन के बाद भी सियासत उफान पर है. शिवसेना के उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाले गुट और एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले गुट के बीच बयानों के तीर चल रहे हैं तो वहीं विधानसभा के मॉनसून सत्र के दौरान भी तल्खी साफ नजर आई. इन सबके बीच केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने विपक्षी दलों को आड़े हाथों लिया है.

X
रामदास अठावले (फाइल फोटो)
रामदास अठावले (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन के बाद भी सियासी संग्राम जारी है. शिवसेना बागी गुट के साथ सरकार बनाने वाली भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और विपक्षी शिवसेना के बीच वार-पलटवार जारी है. महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्षी दल सत्ता पक्ष पर तंज कसने का कोई मौका हाथ से नहीं जाने दे रहे तो वहीं सत्ताधारी खेमा भी चुन-चुन कर एक-एक वार पर पलटवार कर रहा है.

विपक्षी शिवसेना के उद्धव ठाकरे गुट और एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले गुट के विधायक विधानसभा में भिड़ गए. इस दौरान 50 खोखे एकदम ओके का नारा भी सुनाई दिया. इसे लेकर अब रामदास अठावले ने पलटवार किया है. गुरुवार को महाराष्ट्र के पुणे पहुंचे रामदास अठावले ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला.

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने विरोधी दलों पर शायराना अंदाज में पलटवार किया. अठावले ने विरोधियों पर पलटवार करते हुए कहा कि 50 खोखे एकदम ओके, खेलते रहो बस तुम इक्के, हम सब हैं बहुत पक्के. इस दौरान रामदास अठावले से गुजरात दंगों से जुड़े बिलकिस बानो गैंगरेप और मर्डर केस के आरोपियों की रिहाई को लेकर भी सवाल पूछे गए.

हर मसले पर अपनी बेबाक राय रखने वाले रामदास अठावले इस सवाल पर कन्नी काटते नजर आए. रामदास अठावले ने बिलकिस बानो केस के आरोपियों की रिहाई से जुड़े सवाल पर कहा कि इसे लेकर मुझे कोई भी जानकारी नहीं है. केंद्रीय मंत्री अठावले ने बिलकिस बानो गैंगरेप केस में सजायाफ्ता दोषियों को रिहा किए जाने से जुड़े सवाल पर कहा कि सामाजिक न्याय मंत्री होने के बावजूद उन्हें इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है.

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख और उद्धव ठाकरे के चचेरे भाई राज ठाकरे की ओर से उन्हें लेकर की गई टिप्पणी पर उन्होंने इसे लेकर किसी तरह की जानकारी से इनकार किया. गौरतलब है कि एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में शिवसेना के विधायकों ने बगावत कर दी थी जिसके बाद उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था. कुछ दिन तक चले सियासी ड्रामे के बाद बीजेपी ने शिवसेना के बागियों के साथ मिलकर सरकार बना ली और शिवसेना बागी गुट के नेता एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बने. पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस इस सरकार में उपमुख्यमंत्री हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें