scorecardresearch
 

हिंदुओं पर हमले जारी, अगर ये बंद नहीं हुआ तो हमें भी कोई नहीं रोक सकता: नीतीश राणे

बीजेपी विधायक और केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के बेटे नीतीश राणे ने शनिवार को कहा कि नूपुर शर्मा विवाद के बाद उदयपुर, अमरावती और अहमदनगर में भी घटनाएं हुई थीं. नुपुर शर्मा प्रकरण खत्म हो गया है, लेकिन हिंदुओं पर हमले जारी हैं. अगर हमारे लोगों का अपमान और हत्या जारी रही तो हमें अपनी तीसरी आंख खोलनी होगी. यह मेरा संदेश है जो मैं आज देना चाहता हूं.

X
नीतीश राणे-फाइल फोटो नीतीश राणे-फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 'सोशल मीडिया पर देवी-देवताओं का अपमान'
  • 'हम भी जवाब देना जानते हैं'

बीजेपी विधायक और केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के बेटे नीतीश राणे ने आज खुद के हिंदू होने को लेकर बयान दिया है. उन्होंने कहा कि नूपुर शर्मा विवाद के बाद उदयपुर, अमरावती और अहमदनगर में भी घटनाएं हुई थीं. नुपुर शर्मा प्रकरण खत्म हो गया है, लेकिन हिंदुओं पर हमले जारी हैं. हम अंबेडकर की धरती पर रहते हैं लेकिन अगर ऐसा ही चलता रहा तो हमारे हाथ भी किसी ने नहीं रोका है.

राणे ने कहा कि अगर हिंदुओं को निशाना बनाया गया तो हम भी वही जवाब देंगे. यह अंबेडकर की भूमि है. शरिया कानून हम पर बाध्यकारी नहीं है. सोशल मीडिया पर हमारे देवी-देवताओं का हर समय अपमान किया जाता है.

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में किसी को जान से मारने की कोशिश नहीं हुई, लेकिन अगर हमारे लोगों का अपमान और हत्या जारी रही तो हमें अपनी तीसरी आंख खोलनी होगी. यह मेरा संदेश है जो मैं आज देना चाहता हूं.

नीतीश राणे ने कहा, 4 अगस्त को प्रतीक पवार नाम के एक युवक पर करीब 10-15 मुस्लिमों ने हमला कर दिया. उन पर यह कहते हुए हमला किया गया कि वह एक धर्मनिष्ठ हिंदू का काम कर रहे हैं और सभी से डीपी बदलने के लिए कह रहे हैं. वह अपना जीवन बचाने के लिए संघर्ष कर रहा है. राणे के कहा कि नूपुर शर्मा का एपिसोड खत्म हो गया है, लेकिन अभी कितनों को जान देनी पड़ेगी? 

नीतीश राणे ने हाल ही में दावा किया था कि उनके पिता को शिवसेना छोड़ने के बाद खत्म करने की योजना बनाई गई थी. नितेश राणे ने ट्वीट कर आरोप लगाया था कि तथाकथित शांत और सभ्य शिवसेना प्रमुख ने उनकी हत्या के लिए कई सुपारी दी गई थीं. 

नीतीश राणे ने ट्वीट कर लिखा था, "एकनाथ शिंदे जी की तरह, शिवसेना छोड़ने पर मेरे पिता को भी खत्म करने के लिए तथाकथित शांत और सभ्य सेना प्रमुख द्वारा कई "सुपारी" दी गईं. म्याऊ म्याऊ खत्म होने दो, फिर हम रुचि के साथ "वस्त्रहरण" शुरू करेंगे. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें