scorecardresearch
 

नवाब मलिक ने NCB से जिस 'Fletcher Patel' और 'Lady Don' के बारे में पूछा, उनका खुद ही आया जवाब

हाल ही में एक ट्वीट कर नवाब मलिक ने कहा था कि कोई फ्लेचर पटेल नाम का शख्स समीर वानखेड़े की बहन यासमीन का मुंहबोला भाई है. लेकिन एनसीबी ने कई मामलों में उसे ही पंच विटनेस बना रखा है. अब इस आरोप के बाद खुद फ्लेचर पटेल ने आगे आकर सफाई पेश कर दी है.

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 'Fletcher Patel' और 'Lady Don' का राज पता चल गया
  • दोनों ने आगे आकर नवाब मलिक को दिखाया आईना
  • समीर वानखेड़े का किया खुलकर समर्थन

महाराष्ट्र में इस समय ड्रग्स केस की वजह से एनसीबी सुर्खियों में चल रही है. उनके हर कदम पर सभी की नजर है और उसका हर फैसला अभी राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय बन रहा है. इस समय महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक की भी एनसीबी संग ठनी चल रही है. मलिक ना सिर्फ एनसीबी डायरेक्टर समीर वानखेड़े पर सवाल खड़े कर रहे हैं, बल्कि पूरी एनसीबी की कार्यशैली पर भी प्रश्न चिन्ह लगा रहे हैं.

हाल ही में कुछ ट्वीट कर नवाब मलिक ने कहा था कि कोई फ्लेचर पटेल नाम का शख्स समीर वानखेड़े की बहन यासमीन का मुंहबोला भाई है. लेकिन एनसीबी ने कई मामलों में उसे ही पंच विटनेस बना रखा है. अब इस आरोप के बाद खुद फ्लेचर पटेल ने आगे आकर सफाई पेश कर दी है.

कौन हैं फ्लेचर पटेल?

पहले बता दें कि फ्लेचर पटेल 84 आर्मर्ड रेजिमेंट के पूर्व नॉन-कमीशन अधिकारी हैं. वे वर्तमान में एक्स सर्विसमैन के लिए काम कर रहे हैं. वे सैनिक फेडरेशन के नाम से एक संस्था भी चलाते हैं. अब जब उन पर नवाब मालिक ने ये गंभीर आरोप लगाए तो उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि वे वानखेड़े परिवार को बचपन से जानते हैं. उन्होंने उल्टा सवाल खड़े कर दिए कि नवाब मलिक को एनसीबी के इंटरनल डॉक्यूमेंट कहां से मिल रहे हैं.

उन्होंने कहा कि पंचनामा तो इंटरनल डॉक्यूमेंट होते हैं. इन दस्तावेजों को नवाब मलिक के लिए कौन लीक कर रहा है? आगे वे बताते हैं कि बतौर एक्स सर्विसमैन वे हमेशा से ही पुलिस की मदद करने में विश्वास रखते हैं. उन्होंने जोर देकर बोला कि अगर वानखेड़े उन्हें दोबारा कभी बुलाते हैं, वे दस मिनट में उनकी मदद करने के लिए पहुंच जाएंगे. उनके मुताबिक वे किसी की भी मदद कर सकते हैं, उन्हें नवाब मलिक से इजाजत लेने की जरूरत नहीं है.

फ्लेचर ने नवाब मलिक की नीयत पर भी सवाल खड़े कर दिए. उनकी नजरों में जब समीर वानखेड़े इतना अच्छा काम कर रहे हैं, तो किस आधार पर मलिक उनका विरोध कर रहे हैं.

कौन हैं ये लेडी डॉन?

वहीं क्योंकि नवाब मलिक ने अपने ट्वीट में लेडी डॉन का भी जिक्र किया था, इसलिए अब खुद आगे आकर समीर वानखेड़े की बहन यासमीन वानखेड़े ने भी जवाब दे दिया है. उन्होंने बताया है कि वे पेशे से एक वकील हैं. उन्होंने सवाल कर दिया कि ये नवाब मलिक कौन हैं? उन्हें कुछ सबूतों के साथ आना चाहिए. फ्लेचर पटेल संग अपनी तस्वीरों पर उन्होंने कहा है कि वो मेरे राखी वाले भाई हैं. अगर वो मुझे लेडी डॉन कहते हैं, मुझे खुशी होती है. 

नवाब मलिक को नसीहत देते हुए यासमीन ने बोला कि उन्हें इतना नीचे नहीं गिरना चाहिए. उनकी मानसिकता में ही कुछ दिक्कत है. अपने भाई समीर वानखेड़े को भी यासमीन ने खुलकर डिफेंड किया है. नवाब मलिक के तमाम आरोपों को बकवास बताते हुए यासमीन ने कहा कि उनका काम बोलता है.  कुछ भी मन से नहीं बनाया जा रहा है. नवाब मलिक को सबूतों के साथ पेश होना चाहिए. वो खुद के नाम को बेइज्जत कर रहे हैं. एक महिला को ट्रोल कर रहे हैं. समीर ईमानदार अफसर हैं. वे सारा समय अपने काम को ही देते हैं.

एनसीबी डायरेक्टर की बहन ने कहा कि उनका मन तो करता है कि नवाब मलिक के खिलाफ मानहानि का केस ठोक दिया जाए, लेकिन उनकी नजरों में वे उस केस के भी लायक नहीं रह गए हैं. वो सिर्फ बकवास बोल रहे हैं. हमें किसी से भी डर नहीं लगता है.

अब जानकारी के लिए बता दें कि नवाब मलिक का एनसीबी के लिए गुस्सा तब से ज्यादा हो गया जब से आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया है. वे लगातार कह रहे हैं कि पहले एजेंसियों ने उनके दामाद को फंसाया था, अब आर्यन खान को भी फंसाया जा रहा है.
 


 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें