scorecardresearch
 

मुंबई बिल्डिंग हादसे पर पीएम मोदी ने जताया दुख, अब तक 5 की मौत

मुंबई बिल्डिंग हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि डोंगरी में हुआ बिल्डिंग हादसा दुर्भाग्यपूर्ण है. मेरी सहानुभूति पीड़ित परिवारों के साथ है, जिन्होंने अपनों को खोया है.

मुंबई में इमारत गिरी (फोटो- ANI) मुंबई में इमारत गिरी (फोटो- ANI)

मुंबई बिल्डिंग हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि डोंगरी में हुआ बिल्डिंग हादसा दुर्भाग्यपूर्ण है. मेरी सहानुभूति पीड़ित परिवारों के साथ है, जिन्होंने अपनों को खोया है. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वे उम्मीद करते हैं कि घायल जल्द से जल्द ठीक हों. महाराष्ट्र सरकार, एनडीआरएफ और स्थानीय प्रशासन लगातार लोगों की मदद के लिए काम कर रहा है.

बता दें कि मुंबई के डोंगरी इलाके में मंगलवार सुबह बड़ा हादसा हुआ. यहां पर चार मंजिला बिल्डिंग भरभरा कर गिर गई. इमारत के मलबे में करीब 40 से 50 लोगों के दबने की आशंका है, जबकि 5 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. हादसे के बाद स्थानीय पुलिस, दमकल की गाड़ियां और NDRF की टीम मौके पर पहुंची है और बचाव कार्य किया जा रहा है.

चश्मदीदों के मुताबिक, मलबे में करीब 8-10 परिवार दबे हो सकते हैं.  BMC की तरफ से अभी एक शेल्टर खोला गया है जहां पर इस बिल्डिंग के निवासियों के रुकने की व्यवस्था की जाएगी. BMC की एक चिट्ठी सामने आई है, जिसमें इस बिल्डिंग को C1 श्रेणी का बताया गया है. यानी इस बिल्डिंग को खतरनाक बताया गया है और खाली करने की सलाह दी गई है.

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने जताया दुख

100 साल पुरानी इमारत

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि ये 100 साल पुरानी बिल्डिंग है, वहां के निवासियों को इस बिल्डिंग के रिडेवलेप होने की परमिशन मिली थी. हालांकि, अभी हमारा फोकस लोगों को बचाने पर है. जब सारी बातें सामने आएंगी तो इसकी जांच कराई जाएगी.

ये बिल्डिंग BSB डेवलपर्स की है. इस बिल्डिंग को 2012 में NOC दी गई थी. MHADA के मुताबिक, ये बिल्डिंग उस लिस्ट का हिस्सा नहीं है, जिसमें खतरनाक बिल्डिंगों को शामिल किया गया है. बीएमसी के मुताबिक, मंगलवार 11 बजकर 48 मिनट पर डोंगरी के टांडेल गली में केसरबाई नाम की बिल्डिंग का आधा हिस्सा गिर गया. यह बिल्डिंग अब्दुल हमीद शाह दरगाह के पीछे है और काफी पुरानी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें