scorecardresearch
 

चार्टर्ड प्लेन-लग्जरी होटल, जानिए कैसी कट रही शिवसेना के बागी विधायकों की जिंदगी, कितना है रोज का खर्च

महाराष्ट्र में आए सियासी भूकंप का केंद्र मुंबई से 2,732.0 किमी दूर गुवाहाटी का रेडिशन ब्लू होटल है. दरअसल, गुवाहाटी के इसी होटल में एकनाथ शिंदे बागी विधायकों के साथ ठहरे हुए हैं. बताया जा रहा है कि शिंदे के साथ करीब 42 विधायक मौजूद हैं. इनमें से 34 विधायक शिवसेना के जबकि 8 विधायक निर्दलीय हैं.

X
गुवाहाटी के रेडिशन होटल में बढ़ाई गई सुरक्षा गुवाहाटी के रेडिशन होटल में बढ़ाई गई सुरक्षा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एकनाथ शिंदे के साथ 42 विधायक मौजूद
  • गुवाहाटी के होटल रेडिशन में ठहरे हुए हैं सभी बागी

महाराष्ट्र में शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे की बगावत के बाद से सियासी संकट जारी है. उद्धव ठाकरे की मुख्यमंत्री की कुर्सी पर भी खतरा मंडरा रहा है. लेकिन महाराष्ट्र में आए सियासी भूकंप का केंद्र मुंबई से 2,732.0 किमी दूर गुवाहाटी का रेडिशन ब्लू होटल है. दरअसल, गुवाहाटी के इसी होटल में एकनाथ शिंदे बागी विधायकों के साथ ठहरे हुए हैं. बताया जा रहा है कि शिंदे के साथ करीब 42 विधायक मौजूद हैं. इनमें से 34 विधायक शिवसेना के जबकि 8 विधायक निर्दलीय हैं. महाराष्ट्र में एक बार फिर शुरू हुई इस रिजॉर्ट पॉलिटिक्स में पैसा भी पानी की तरह बहाया जा रहा है. 

दरअसल, सियासी संकट महाराष्ट्र में है. लेकिन एक एपिसेंटर सूरत में बनाया गया है. शिवसेना से बागी हो रहे विधायक सबसे पहले सूरत पहुंच रहे हैं. यहां से ही विधायकों को चार्टर्ड विमानों से गुवाहाटी में भेजा जा रहा है. खास बात ये है कि शिवसेना के विधायक एकमुश्त होकर गुवाहाटी नहीं पहुंचे हैं. बागी विधायक 2-2, 3-3 की संख्या में सूरत पहुंच रहे हैं. कुछ विधायक यहां मंगलवार को पहुंचे थे, कुछ विधायक बुधवार को. गुरुवार को भी शिवसेना के कुछ विधायक गुवाहाटी पहुंचे हैं. यहां से उन्हें चार्टर्ड विमानों से गुवाहाटी में भेजा जा रहा है. ऐसे में आप अंदाजा लगा सकते हैं कि चार्टर्ड विमानों की बुकिंग में कितना खर्चा हो रहा है. 

टेंशन में पार्टी, मौज में विधायक

बागी विधायकों के तेवरों की वजह से शिवसेना टेंशन में है. शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री आवास खाली कर चुके हैं. उन्होंने बागी विधायकों को मनाने के लिए सीएम पद भी छोड़ने की पेशकश की है. तो वहीं गुवाहाटी में होटल में ठहरे विधायकों की हर सुख सुविधा का ख्याल रखा जा रहा है. रेडिशन होटल के आस पास सुरक्षा का भी विशेष ध्यान रखा गया है. 

होटल में बीजेपी के नेताओं का आना जाना जारी

बीजेपी भले ही पूरे राजनीतिक हालातों को शिवसेना का आंतरिक मामला बता रही हो. लेकिन कहा जा रहा है कि कहीं न कहीं बीजेपी इन सबसे जुड़ी है. चाहें गुवाहाटी के रेडिशन ब्लू होटल की बात हो या फिर सूरत एयरपोर्ट के नजदीक ली मेरिडियन होटल की. बीजेपी के नेता इस बात का ख्याल रख रहे हैं कि शिवसेना के बागी विधायकों को किसी तरह की कोई दिक्कत न हो. रेडिशन ब्लू होटल में तो बीजेपी के नेताओं का आना जाना जारी है. सूत्रों के मुताबिक, असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा भी बागी विधायकों से मुलाकात कर चुके हैं. उधर, असम के ADGP भी गुरुवार को रेडिशन होटल पहुंचे. इससे पहले बीजेपी के कई और विधायक शिवसेना के विधायकों का होटल में पहुंचकर हाल चाल ले चुके हैं. 

कितना है होटल का किराया?

बताया जा रहा है कि होटल रेडिशन ब्लू में 6 दिन के लिए बुकिंग की गई है. करीब 90 लोग होटल में ठहरे हुए हैं. इनमें शिवसेना और निर्दलीय विधायक भी शामिल हैं. विधायकों की संख्या बढ़ते देखते हुए होटल में कुछ और कमरों को खाली रखने के लिए कहा गया है. जानकारी के मुताबिक, रेडिशन ब्लू होटल में एक कमरे का किराया 6800 रुपए से शुरू होता है. डीलक्स कमरे का किराया 8000 रुपए तक है. ऐसे में आप अंदाजा लगा सकते हैं कि महाराष्ट्र में आए सियासी भूचाल पर कितना रुपए खर्च किया जा रहा है. 

कर्नाटक, एमपी, राजस्थान में भी हो चुकी रिजॉर्ट पॉलिटिक्स

महाराष्ट्र में चल रही रिजॉर्ट पॉलिटिक्स नई नहीं है. इससे पहले कर्नाटक और मध्यप्रदेश में रिजॉर्ट पॉलिटिक्स के बाद कांग्रेस सरकार गिर गई थी. वहीं, राजस्थान में भी कोरोना काल में इसी तरह की स्थिति सामने आई थी. तब कांग्रेस नेता सचिन पायलट बागी विधायकों के साथ हरियाणा पहुंचे थे. वहीं, गहलोत खेमे ने अपने विधायकों को जयपुर में अलग अलग रिजॉर्ट में ठहराया था. इस साल राज्यसभा चुनाव में भी राजस्थान, हरियाणा, महाराष्ट्र में क्रॉस वोटिंग और हॉर्स ट्रेडिंग के डर से विधायकों को रिजॉर्ट में ठहराया गया था. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें