scorecardresearch
 

महाराष्ट्रः फडणवीस को मिला राज ठाकरे का साथ, फ्लोर टेस्ट में BJP की मदद करेगी MNS

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में जारी सियासी संकट के बीच देवेंद्र फडणवीस ने मनसे प्रमुख राज ठाकरे को फोन लगाया है. फडणवीस ने फ्लोर टेस्ट में मनसे का समर्थन मांगा है. राज ठाकरे ने उन्हें बहुमत साबित करने में मदद करने का भरोसा दिया है.

X
महाराष्ट्र विधानसभा में फ्लोर टेस्ट में राज ठाकरे ने बीजेपी को मदद का भरोसा दिया है. (फाइल फोटो) महाराष्ट्र विधानसभा में फ्लोर टेस्ट में राज ठाकरे ने बीजेपी को मदद का भरोसा दिया है. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राज्यपाल ने गुरुवार को फ्लोर टेस्ट का आदेश दिया
  • फ्लोर टेस्ट के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची शिवसेना

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र का सियासी संकट अब अपने आखिरी दौर में पहुंचता दिख रहा है. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने गुरुवार को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है, जिसमें फ्लोर टेस्ट होगा. इस फ्लोर टेस्ट को शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है, जिस पर बुधवार शाम को ही सुनवाई होनी है. इसी बीच बीजेपी ने फ्लोर टेस्ट के लिए अपनी तैयारी शुरू कर दी है. 

सुप्रीम कोर्ट से अगर फ्लोर टेस्ट को हरी झंडी मिलती है, तो उद्धव ठाकरे को गुरुवार को विधानसभा में अपना बहुमत साबित करना होगा. बीजेपी को इस बात का भरोसा है कि अगर फ्लोर टेस्ट होता है, तो महा विकास अघाड़ी सरकार का जाना तय है. इसलिए बीजेपी ने अब अपने दांव चलने शुरू कर दिए हैं.

बताया जा रहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे से फोन पर बात की है. इस बातचीत में फडणवीस ने राज ठाकरे से बीजेपी के लिए समर्थन मांगा है. राज ठाकरे ने भी फ्लोर टेस्ट में बीजेपी का समर्थन करने का भरोसा दिया है. महाराष्ट्र विधानसभा में मनसे के एकमात्र विधायक राजू पाटिल हैं. राजू पाटिल बीजेपी के समर्थन में वोट करेंगे. 

ये भी पढ़ें-- Maharashtra: शिंदे गुट के बिना भी BJP के पक्ष में है महाराष्ट्र विधानसभा का नंबरगेम, समझिए कैसे

फ्लोर टेस्ट के खिलाफ SC पहुंची शिवसेना 

राज्यपाल ने गुरुवार को उद्धव सरकार को विधानसभा में बहुमत साबित करने को कहा है. हालांकि, फ्लोर टेस्ट के खिलाफ शिवसेना सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है. शिवसेना का कहना है कि जब तक 16 विधायकों की अयोग्यता के मामले की सुनवाई पूरी नहीं हो जाती, तब तक फ्लोर टेस्ट नहीं होना चाहिए. इस मामले में आज शाम ही सुनवाई होनी है. 

हालांकि, इससे पहले सोमवार को भी शिवसेना के वकील ने अयोग्यता मामले की सुनवाई पूरी होने तक फ्लोर टेस्ट पर रोक लगाने की मांग की थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया था. 

इस सबके बीच शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे ने बुधवार को अपने साथ 50 विधायकों के होने का दावा किया. शिंदे ने कहा, 'हमें कोई नहीं रोक सकता है. डेमोक्रेटिक सिस्टम में नंबर और बहुमत बहुत जरूरी होता है.' उनसे जब बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाने का सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि फ्लोर टेस्ट के बाद इस पर फैसला लिया जाएगा. 

ये भी पढ़ें-- महाराष्ट्रः शिंदे गुट के 8 निर्दलीय MLA ने भी राज्यपाल से की फ्लोर टेस्ट की मांग, ये है शिवसेना की प्लानिंग!

फ्लोर टेस्ट होगा या नहीं? SC पर निर्भर

फिलहाल फ्लोर टेस्ट का मामला सुप्रीम कोर्ट में है. फ्लोर टेस्ट होगा या नहीं, ये अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर निर्भर है. अगर सुप्रीम कोर्ट राज्यपाल के आदेश पर हस्तक्षेप करने से इनकार कर देता है तो गुरुवार को महाराष्ट्र विधानसभा में उद्धव सरकार को अपना बहुमत साबित करना होगा. वहीं, अगर सुप्रीम कोर्ट फ्लोर टेस्ट की कार्यवाही पर रोक लगा देता है या स्थगित कर देता है, तो इससे महा विकास अघाड़ी को नंबर जुटाने में थोड़ा और समय मिल जाएगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें