scorecardresearch
 

कंगना बंगला विवाद में BMC ने वकील पर खर्च किए 82 लाख, RTI में खुलासा

फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौैत और महाराष्ट्र सरकार में लगातार वार-पलटवार का सिलसिला चलता रहता है. इसी बीच बीएमसी ने कंगना के दफ्तर और बंगले पर एक्शन भी लिया था.

कंगना रनौत मामले में खुलासा कंगना रनौत मामले में खुलासा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कंगना बंगले विवाद पर RTI से खुलासा
  • दो दिन में खर्च हुए 82 लाख: RTI

महाराष्ट्र में उद्धव सरकार और फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत से जुड़े विवाद में एक नई बात सामने आई है. एक आरटीआई से खुलासा हुआ है कि बंगला विवाद में कोर्ट में जो सुनवाई हुई, उसके लिए बीएमसी के वकील ने दो दिन के लिए 82 लाख रुपये की फीस ली. 

आरटीआई एक्टिविस्ट शरद यादव ने इस मामले में सवाल पूछा था. जवाब में बताया गया है कि बीएमसी की ओर से वकील अस्पी चेनॉय ने अदालत में दलीलें रखी थीं.

देखें: आजतक LIVE TV 

इसके लिए बीएमसी से उन्हें दो दिन के लिए 82 लाख 50 हजार रुपये दिए गए हैं. अब शरद यादव ने सवाल खड़े किए हैं कि टैक्सपेयर्स के पैसों को इस तरह आपसी लड़ाई में क्यों खर्च किया जा रहा है. 

शरद यादव के मुताबिक, शुरुआत में बीएमसी ने ये जानकारी देने से इनकार किया था लेकिन बाद में जब उन्होंने मांग वापस नहीं ली तो जवाब मिला. उन्होंने पूछा कि बीएमसी के पास अपने वकील हैं जो महंगी फीस लेते हैं, ऐसे में उनका इस्तेमाल क्यों नहीं लिया गया. आरटीआई एक्टिविस्ट की ओर से इस मामले में अदालत का रुख अपनाया जा सकता है.

इस खुलासे के बाद फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत ने भी सवाल खड़े किए. कंगना ने ट्वीट कर लिखा कि बीएमसी ने 82 लाख रुपये मुझसे लड़ने के लिए खर्च कर दिए, एक लड़की को परेशान करने के लिए पब्लिक के पैसे को उड़ाया जा रहा है. आज महाराष्ट्र ऐसी स्थिति में आ गया है. 

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में बीएमसी ने कंगना रनौत के दफ्तर पर एक्शन लिया था और अतिक्रमण को हटा दिया था. कंगना रनौत और उद्धव सरकार में लगातार इस मसले पर जंग जारी है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें