scorecardresearch
 

महाराष्ट्र: अप्रैल फूल बनाना पड़ेगा भारी, सरकार ने कहा- होगा एक्शन

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा, ‘हर साल 1 अप्रैल पर लोग दोस्तों और रिश्तेदारों से प्रैंक करते हैं. इस साल ऐसा करने से बचें. महाराष्ट्र समेत पूरा देश कोरोना वायरस से जंग लड़ रहा है. अप्रैल फूल के नाम पर झूठे संदेश, अफवाहों से लोगों में घबराहट की स्थिति हो सकती है.

महाराष्ट्र सरकार की चेतावनी- साइबर क्राइम एक्ट के तहत दर्ज होगा केस (उद्धव ठाकरे, PTI) महाराष्ट्र सरकार की चेतावनी- साइबर क्राइम एक्ट के तहत दर्ज होगा केस (उद्धव ठाकरे, PTI)

  • अफवाह फैलाने को लेकर ही कल हुई थी एक गिरफ्तारी
  • महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने दिया कड़ा संदेश

अगर कोई भी अप्रैल फूल के नाम पर अफवाह, झूठा संदेश या लोगों में घबराहट पैदा करने वाली कोई बात करेगा तो उसके खिलाफ साइबर क्राइम एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी. ये चेतावनी महाराष्ट्र सरकार ने मंगलवार को दी.

महाराष्ट्र सरकार के मुताबिक पुलिस सोशल मीडिया हैंडल्स पर नजर रखेगी. सोमवार को मुंबई पुलिस ने एक ऐसे शख्स के खिलाफ केस दर्ज किया जिसने एक ग्रुप में वॉट्सएप पर फर्जी संदेश डाला था कि मुंबई में सेना तैनात कर दी गई है.

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा, ‘हर साल 1 अप्रैल पर लोग दोस्तों और रिश्तेदारों से प्रैंक करते हैं. इस साल ऐसा करने से बचें. महाराष्ट्र समेत पूरा देश कोरोना वायरस से जंग लड़ रहा है. अप्रैल फूल के नाम पर झूठे संदेश, अफवाहों से लोगों में घबराहट की स्थिति हो सकती है. इसलिए ऐसा नहीं करना चाहिए. अगर कोई ऐसा करता है तो पुलिस उसके खिलाफ साइबर क्राइम एक्ट के तहत सख्त कार्रवाई करेगी. ऐसे हालात में मैं सभी से सहयोग देने की अपील करता हूं.’

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

सोमवार को मुंबई पुलिस ने सोहेल नाम के एक शख्स के खिलाफ केस दर्ज किया. इस पर मुंबई एकता वॉट्सएप ग्रुप पर अफवाह वाला संदेश डालने का आरोप है. उस फर्जी संदेश में लिखा गया था, “मुबंई के नल बाजार, भिंडी बाजार, डोंगरी, मदनपुरा, कालापानी, सात रास्ता क्षेत्रों में स्थिति बेकाबू है इसलिए सेना को बुला लिया गया है. और वो भीड़ पर काबू पाने के लिए बल, लाठीचार्ज और फायरिंग का सहारा लेगी.”

सोहेल सलीम पंजाबी नाम के इस शख्स को पठान वाडी के पेरू लेन से ढूंढ निकाला गया. उसके खिलाफ आईपीसी की 188,505(1), 269 और डीएम एक्ट की धारा 54,56 के तहत केस दर्ज किया गया. मुंबई पुलिस के डीसीपी जोन 1 संग्राम सिंह निशांदर ने बताया,"मैं लोगों से अपील करता हूं कि वो वॉट्सएप संदेश फॉरवर्ड ना करें. सिर्फ सरकार और विश्वसनीय मीडिया की ओर से दिए जा रहे निर्देशों और सूचनाओं को ही पढ़ें.”

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें