scorecardresearch
 

महाराष्ट्र में वैक्सीन की कमी, 18+ नहीं अब 45+ को दी जाएगी कोवैक्सीन की बची डोज

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य में केवल 35000 कोवाक्सिन उपलब्ध हैं, कुल मिलाकर 2.75 लाख वैक्सीन है, टीकों की कमी के कारण 18 से 44 उम्र को मिलने वाली खुराक अब 45 से अधिक उम्र के लोगों को दी जाएगी.

45 साल से अधिक उम्र को लगाई जा रही है कोरोना वैक्सीन (फोटो-PTI) 45 साल से अधिक उम्र को लगाई जा रही है कोरोना वैक्सीन (फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महाराष्ट्र में सिर्फ 35 हजार कोवैक्सीन की डोज
  • अब 45+ लोगों को दी जाएगी कोवैक्सीन की डोज

महाराष्ट्र में कोरोना वैक्सीन की कमी के कारण 18 साल से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण रोक दिया गया है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य में केवल 35000 कोवाक्सिन उपलब्ध हैं, कुल मिलाकर 2.75 लाख वैक्सीन है, टीकों की कमी के कारण 18 से 44 उम्र को मिलने वाली खुराक अब 45 से अधिक उम्र के लोगों को दी जाएगी.

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि सक्रिय मामलों में कमी आ रही है, रिकवरी रेट अच्छी है. उन्होंने कहा कि कोवैक्सीन की अभी 35 हजार खुराकें उपलब्ध हैं, लेकिन 5 लाख से अधिक लोगों को कोवाक्सिन की दूसरी खुराक देनी है, इसलिए अब कोवैक्सीन की खुराक सिर्फ 45 साल से ऊपर के लोगों को दी जा रही है.

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि कल मैंने डॉ. हर्षवर्धन से बात की, उन्होंने कहा कि उनके पास भी टीके उपलब्ध नहीं हैं,  हम टास्क फोर्स को बोल रहे हैं और सीएम उद्धव ठाकरे के साथ चर्चा कर रहे हैं, हमें 18 से 44 आयु वर्ग के टीकाकरण को धीमा करना पड़ सकता है, महाराष्ट्र कैबिनेट की बैठक में आगे फैसला लिया जाएगा.

रेमडेसिविर की कमी पर स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि हमें 11 लाख रेमडेसिवीर मिलने थे, लेकिन हमें 9 लाख मिले. ब्लैक फंगस के मामले में राजेश टोपे ने कहा कि कुछ जिलों में कोई मामला नहीं है, ब्लैक फंगस के उपचार के लिए मल्टी ट्रीटमेंट की आवश्यकता होती है. महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना अस्पताल में हम मुफ्त इलाज कर रहे हैं. 

वैक्सीन के ग्लोबल टेंडर पर स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि हमने स्पूतनिक के लिए कुछ प्रश्न रखे हैं, जिनका हमें अभी तक उत्तर नहीं मिला है, केंद्र सरकार को और विदेशी वैक्सीन आपूर्तिकर्ताओं को मंजूरी देने की जरूरत है, हमें कोविशील्ड और कोवैक्सीन के उत्पादन को बढ़ाने की भी आवश्यकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें