scorecardresearch
 

उद्धव के करीबियों से शिंदे ने बढ़ाईं नजदीकियां! गणेश दर्शन के लिए पहुंच रहे CM

सीएम शिंदे सबसे पहले उद्धव के चचेरे भाई और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे के आवास 'शिव तीर्थ' पहुंचे और भगवान गणेश के दर्शन किए. गुरुवार को यहां दोनों की मुलाकात हुई. दर्शन के बाद शिंदे ने स्पष्ट किया कि उनके बीच को राजनीतिक चर्चा नहीं हुई है. यह सिर्फ शिष्टाचार मुलाकात है.

X
CM एकनाथ शिंदे ने मिलिंद नार्वेकर से मुलाकात की.
CM एकनाथ शिंदे ने मिलिंद नार्वेकर से मुलाकात की.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनने के बाद एकनाथ शिंदे अब नए मिशन मोड पर देखे जा रहे हैं. शिंदे हाल ही में शिवसेना की कमान पूरी तरह से अपने हाथ में लेने की कोशिशों में लगे हुए हैं. इस बीच, खुद की मजबूती के लिए अन्य दलों के नेताओं से भी मुलाकात कर रहे हैं. गणेश उत्सव के बीच एक दिन पहले शिंदे को उद्धव ठाकरे के करीबियों से मेलमिलाप बढ़ाते देखा जा रहा है.

गुरुवार शाम को सीएम शिंदे सबसे पहले उद्धव के चचेरे भाई और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे के आवास 'शिव तीर्थ' पहुंचे और भगवान गणेश के दर्शन किए. यहां दोनों की मुलाकात हुई. दर्शन के बाद शिंदे ने स्पष्ट किया कि उनकी राजनीतिक कोई चर्चा नहीं हुई है. यह सिर्फ शिष्टाचार मुलाकात है. सर्जरी के बाद राज ठाकरे से मिलना हुआ है. उनकी कुशलक्षेम जानी है. हालांकि, इस मुलाकात में एक बार फिर पुरानी यादें लंबे समय के बाद ताजा हो गईं. शिंदे और राज की मुलाकात ने राज्य में नए राजनीतिक समीकरणों की संभावना का संकेत दिया है.

सीएम शिंदे ने उसके बाद मिलिंद नार्वेकर से भी मुलाकात की. मिलिंद उद्धव और शिवसेना के दिग्गज नेता मनोहर जोशी के करीबी सहयोगी हैं. वह एक महीने के भीतर दो बार उद्धव के दोनों करीबी विश्वासपात्रों से मुलाकात कर चुके हैं. यही वजह है कि इन मुलाकातों को सियासी तौर पर भी जोड़े जाने लगा है. पिछले महीने की शुरुआत में मिलिंद की मां का निधन हो गया था. तब सीएम शिंदे मिलिंद नार्वेकर के आवास पहुंचे थे और उनकी मां को श्रद्धांजलि दी थी.

बता दें कि जब शिंदे गुट ने बगावत की और सबसे पहले गुजरात के सूरत पहुंचे थे तब उद्धव ने मिलिंद नार्वेकर को अपना दूत बनाकर नाराजगी को दूर करने की जिम्मेदारी सौंपी थी. तब मिलिंद और शिंदे के बीच थोड़ी देर बातचीत हुई थी, लेकिन शिंदे गुट वापस लौटने के मूड में नहीं था.

सीएम शिंदे गुरुवार को ही पूर्व मुख्यमंत्री और शिवसेना के वरिष्ठ नेता मनोहर जोशी के आवास पर पहुंचे और भगवान गणेश के दर्शन किए. इस मौके पर विधायक सदा सरवणकर मौजूद रहे. शिंदे और जोशी के बीच बातचीत भी हुई. 

तब उद्धव ने मिलिंद को बगावत थामने की थी जिम्मेदारी

निकाय चुनाव पर फोकस

अब चल रही राजनीतिक और कानूनी लड़ाई के बीच शिंदे बड़ा दांव खेलने जा रहे हैं. जानकारों की मानें तो शिंदे जल्द ही शिवसेना नेताओं के पदाधिकारियों और प्रमुख पदों की नई सूची घोषित करने की तैयारी कर रहे हैं. जल्द ही इसका ऐलान किया जा सकता है. वे निकाय चुनाव को लेकर खास प्लान बना रहे हैं. 

उद्धव को उनके गढ़ में चुनौती देने की तैयारी

यही वजह है कि उन्होंने निकाय चुनावों से पहले खासतौर पर मुंबई के शहर और उपनगरों में विभाग प्रमुखों (क्षेत्रीय प्रमुख) की पांच नई नियुक्तियों की घोषणा की है. उद्धव खेमे में इन समानांतर नियुक्तियों से जाहिर है कि शिंदे उद्धव को उनके गढ़ में चुनौती देने की तैयारी कर रहे हैं.

आदित्य ठाकरे भी संभाले हैं मोर्चा

इस बीच, पूर्व मंत्री और युवा सेना नेता आदित्य ठाकरे भी अपनी जमीन बरकरार रखने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. आदित्य राज्यभर के बागी विधायकों के क्षेत्रों में रैलियां करने के बाद त्योहारी सीजन में मुंबई पर विशेष ध्यान दे रहे हैं. आदित्य व्यक्तिगत रूप से गणेश दर्शन के लिए प्रमुख नेताओं और पूर्व नगरसेवकों के आवास भी जा रहे हैं.

मिलिंद के घर पहले आदित्य और रश्मि गईं, फिर पहुंचे शिंदे

बताते चलें कि उद्धव की पत्नी रश्मि ठाकरे और बेटे आदित्य भी गुरुवार को मिलिंद नार्वेकर के घर पहुंचे थे. उसके कुछ घंटे बाद सीएम शिंदे गणेश दर्शन के लिए मिलिंद के आवास आए थे. यहां तक ​​कि उद्धव के छोटे बेटे तेजस ठाकरे को भी गणपति उत्सव के अवसर पर बधाई देने के लिए शहर भर में लगे पोस्टरों पर देखा जा सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें