scorecardresearch
 

महाराष्ट्र: एकनाथ शिंदे ने शिवसेना से बगावत पर दी सफाई, बोले- हमने क्रांति की, जिसे पूरे देश ने देखा 

पिछले दिनों महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे ने मंत्रालयों में काम न होने पर सफाई दी थी. उन्होंने कहा था कि उन्हें हर समय मंत्रालय में बैठने की कोई आवश्यकता नहीं है. उन्होंने कहा था कि वह जहां जाते हैं, वहीं मंत्रालय बन जाता है. 

X
सीएम एकनाथ शिंदे ने अपनी सरकार की तारीफ की (फाइल फोटो)
सीएम एकनाथ शिंदे ने अपनी सरकार की तारीफ की (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आरोप: कुछ लोगों को लगता था वे ही शीर्ष पदों के लिए बने
  • वादा: हमें काम करना है और सभी को न्याय देना है

महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे ने बताया कि उन्होंने अपने 50 विधायकों से कहा है कि वह अकेले सीएम नहीं हैं. उनके सभी विधायक भी सीएम हैं. उन्होंने कहा,'' मैंने बालासाहेब का आशीर्वाद लेकर राज्य में सरकार बनाई है. यह पहले नहीं किया जा सकता था लेकिन अब हमने सुधार कर लिया है. उन्होंने कहा कि शीर्ष पदों पर बैठे बहुत से लोग यह सोचने लगे थे कि वे ही शीर्ष पदों के लिए बने हैं. आज लोगों ने देखा है कि कैसे एक आम आदमी भी मुख्यमंत्री बन सकता है. 

मेरे पास बड़ा काम था इसलिए कई दिन नींद नहीं आई

शिंदे ने कहा, ''मैं ग्रामीण क्षेत्र से आया हूं. मैंने कड़ी मेहनत की है. मुझे बालासाहेब और आनंद दिघे का आशीर्वाद मिला. उन्होंने बताया कि पहले तीन-चार दिन तो मुझे नींद भी नहीं आई क्योंकि मेरे हाथ में एक बहुत बड़ा काम था. फिर धीरे-धीरे 50 विधायक एक साथ हो गए. 

उन्होंने कहा कि कई लोग हमें बागी कहते हैं, लेकिन मैं कहता हूं कि हमने क्रांति की घोषणा की और देश ने यह देखा. मेरे लिए कहा गया कि हम विधायकों को जबरदस्ती पकड़ कर रखा लेकिन हम वहां जन्मदिन मना रहे थे. हम लड़े और जीते. आज बीजेपी और हमारी सरकार है. नरेंद्र मोदी ने हमें समर्थन दिया. अब हमें काम करना है और सभी को न्याय देना है. 

हमारी सरकार में रिक्शावाले-पानीपुरीवाले

एकनाथ शिंदे ने कहा कि हमारी सरकार मेहनती लोगों की सरकार है, जिसमें रिक्शा वाले, पानीपुरी वाले, सब्जी वाले हैं. राज्य के लोगों ने हमारे प्रयासों को स्वीकार किया है. उन्होंने कहा कि हम सभी को न्याय दिलाने के लिए सब कुछ करेंगे. अब मैं गांवों में सड़कें बनवाऊंगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें