scorecardresearch
 

महाराष्ट्र: 14 मंत्री... हर क्षेत्र का प्रतिनिधित्व, कुछ ऐसा होगा शिंदे मंत्रिमंडल, शपथग्रहण कल

महाराष्ट्र सरकार का कल कैबिनेट विस्तार हो सकता है. कुल 14 मंत्री शपथ ले सकते हैं. इसमें बीजेपी से सुधीर मुनगंटीवार, चंद्रिकांत पाटिल, गिरीश महाजन को मौका दिया जा सकता है.

X
कुछ ऐसा होगा शिंदे मंत्रिमंडल (पीटीआई) कुछ ऐसा होगा शिंदे मंत्रिमंडल (पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शिंदे-बीजेपी खेमे से 7 मंत्री लेंगे शपथ
  • दिल्ली में नेताओं से हो चुका है मंथन

महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन के बाद से शिंदे सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार का इंतजार अब समाप्त होने जा रहा है. खबर है कि मंगलवार को शिंदे सरकार का मंत्रिमंडल शपथ ले सकता है. सुबह 11 बजे ये शपथ ग्रहण समारोह संभव है. कुल 14 मंत्री इस नई सरकार में शपथ ले सकते हैं. अभी तक मंत्रियों को लेकर कोई औपचारिक ऐलान तो नहीं हुआ है, लेकिन जो जानकारी निकलकर आ रही है उसके मुताबिक बीजेपी को कई अहम मंत्रालय मिल सकते हैं.

इस बार बीजेपी खेमे से सुधीर मुनगंटीवार, चंद्रिकांत पाटिल, गिरीश महाजन को मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है, वहीं शिंदे खेमे से गुलाब राव पाटिल, सदा सावरकर, दीपक केसरकर को मौका दिया जा सकता है. कहा तो ये भी जा रहा है दि डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस को गृह विभाग दिया जा सकता है. खबर तो ये भी है कि बैलेंस बनाने के लिए दोनों बीजेपी और शिंदे खेमे से 7-7 मंत्रियों को शपथ दिलवाई जा सकती है. शिंदे सरकार और बीजेपी के लिए ये मंत्रिमंडल विस्तार काफी मायने रखने वाला है. आने वाले चुनाव और तमाम राजनीतिक समीकरण को देखते हुए मंत्रियों का चयन किया जा रहा है. 

वैसे यहां ये जानना भी जरूरी हो जाता है कि अभी तक क्योंकि बागी विधायकों की सदस्यता को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा कोई फैसला नहीं दिया गया है, उसी वजह से इस कैबिनेट विस्तार में इतनी देरी हो रही है. लेकिन अब जब सत्ता में आए 35 दिन से अधिक हो चुके हैं, ऐसे में मंत्रिमडल का शपथ लेना जरूरी था. कहा जा रहा है कि कल ये औपचारिकता पूरी की जा सकती है. देवेंद्र फडणवीस की सीएम एकनाथ शिंदे से मुलाकात हो चुकी है. दिल्ली में भी बड़े नेताओं से मुलाकात का सिलसिला थम चुका है. ऐसे में नए मंत्रिमंडल को लेकर सब कुछ फाइनल हो चुका है, कल उनकी शपथ संभव है.

मंत्रिमंडल विस्तार पर सीएम एकनाथ शिंदे ने भी बड़ा बयान दिया था. शनिवार को मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा था कि मंत्रिपरिषद के विस्तार में देरी के कारण राज्य सरकार का कामकाज किसी भी तरह से प्रभावित नहीं हुआ है. जल्द ही और मंत्रियों को शामिल किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा था कि सरकार का काम किसी भी तरह से प्रभावित नहीं हुआ है. निर्णय लेने की प्रक्रिया प्रभावित नहीं हुई है. मैं और उपमुख्यमंत्री निर्णय लेते रहे हैं और सरकार के कामकाज पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें