scorecardresearch
 

महाराष्ट्र कैबिनेट का विस्तार कल संभव, CM एकनाथ शिंदे से मिले फडणवीस

महाराष्ट्र में कल ही शिंदे सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है. इसके कयास इसलिए भी लगाए जा रहे हैं, क्योंकि सोमवार को डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से मुलाकात की. पहले 15 अगस्त तक कैबिनेट विस्तार होने का अनुमान था, लेकिन अब 15 अगस्त से पहले ही चर्चाएं शुरू हो गईं. इन चर्चाओं पर जल्द ही विराम लगता दिख रहा है.

X
देवेंद्र फडणवीस/एकनाथ शिंदे (File Photo)
देवेंद्र फडणवीस/एकनाथ शिंदे (File Photo)

महाराष्ट्र में शिंदे सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार कल हो सकता है. सोमवार को डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से मुलाकात की. उनके दिल्ली दौरे के बाद से कैबिनेट विस्तार 15 अगस्त से पहले होने की चर्चाएं शुरू हो गई थीं. अब इस पर विराम लगता दिख रहा है.

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली में बीजेपी के आलानेताओं के साथ बैठक के बाद खबरें आने लगी हैं. सूत्रों के मुताबिक, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे इसी सप्ताह (15 अगस्त तक) कैबिनेट विस्तार कर सकते हैं. शिंदे करीब 15 मंत्रियों को अपने पहले मंत्रिमंडल विस्तार में शामिल कर सकते हैं. उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को महत्वपूर्ण गृह विभाग दिए जाने की संभावना है.शीर्ष सरकारी सूत्रों ने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा ओबीसी आरक्षण के मुद्दे पर सुनवाई के कारण राज्य में निकाय चुनाव में देरी हो रही है. शीर्ष अदालत से स्पष्टीकरण मिलने के बाद अक्टूबर में निकाय चुनाव होने की संभावना है.

30 जून को शिंदे और फडणवीस ने ली थी शपथ

बता दें कि शिवसेना से बगावत कारण उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था. उसके बाद शिंदे और फडणवीस ने 30 जून को मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी. दोनों तब से दो सदस्यीय कैबिनेट के रूप में काम कर रहे हैं. इसे लेकर एनसीपी नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री अजीत पवार समेत विपक्षी नेता लगातार हमलावर हैं.शनिवार को मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा था कि मंत्रिपरिषद के विस्तार में देरी के कारण राज्य सरकार का कामकाज किसी भी तरह से प्रभावित नहीं हुआ है. जल्द ही और मंत्रियों को शामिल किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा था कि सरकार का काम किसी भी तरह से प्रभावित नहीं हुआ है. निर्णय लेने की प्रक्रिया प्रभावित नहीं हुई है. मैं और उपमुख्यमंत्री निर्णय लेते रहे हैं और सरकार के कामकाज पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है.

2024 को ध्यान में रखकर तैयारियां

फडणवीस ने कहा था कि भाजपा ने 2024 के लोकसभा चुनावों में महाराष्ट्र के 16 संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों को चिह्नित किया है. यहां एक मिशन के तहत पार्टी करेगी और जीत हासिल की थी. उन्होंने कहा कि इन निर्वाचन क्षेत्रों में शिवसेना के नेताओं का वर्चस्व है, जो अब शिंदे खेमे में शामिल हो गए हैं. फडणवीस ने कहा- चूंकि शिवसेना और भाजपा गठबंधन के रूप में लोकसभा चुनाव लड़ेंगे, इसलिए भाजपा इन निर्वाचन क्षेत्रों से मौजूदा लोकसभा सदस्यों की जीत सुनिश्चित करने के लिए काम करेगी.

पवार को उनके गढ़ में घेरने की तैयारी

फडणवीस के मुताबिक वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को बारामती में भाजपा के प्रदर्शन को बेहतर करने के प्रयासों के समन्वय की जिम्मेदारी दी गई है, जहां पार्टी को पिछले चुनावों में अच्छी संख्या में वोट मिले थे. उन्होंने कहा कि सीतारमण के सितंबर में बारामती का दौरा करने की संभावना है और लोकसभा चुनाव के लिए जिम्मेदार अन्य केंद्रीय भाजपा नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों के यात्रा कार्यक्रमों को जल्द ही अंतिम रूप दिया जाएगा.बता दें कि बारामती से वर्तमान में राकांपा प्रमुख शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले सांसद हैं. ये सीट पवार परिवार का गढ़ मानी जाती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें