scorecardresearch
 

महाराष्ट्र: जय श्रीराम न बोलने पर एक शख्स की पिटाई, गणेश ने बचाई जान

उत्तर प्रदेश, झारखंड और बिहार के बाद अब महाराष्ट्र के औरंगाबाद से जय श्रीराम नहीं बोलने पर मुस्लिम युवकों की पिटाई का मामला सामने आया है. जय श्रीराम के नारे लगवाने के लिए भीड़ ने एक मुस्लिम युवक के साथ मारपीट की.

मॉब लिंचिंग के खिलाफ प्रदर्शन (फोटो-IANS) मॉब लिंचिंग के खिलाफ प्रदर्शन (फोटो-IANS)

उत्तर प्रदेश, झारखंड और बिहार के बाद अब महाराष्ट्र के औरंगाबाद से जय श्रीराम नहीं बोलने पर मुस्लिम युवकों की पिटाई का मामला सामने आया है. जय श्रीराम के नारे लगवाने के लिए भीड़ ने एक मुस्लिम युवक के साथ मारपीट की.

बताया जा रहा है कि औरंगाबाद के मदीना होटल में काम करने वाला इमरान इस्माइल नाम का शख्स गुरुवार देर रात अपने घर वापस आ रहा था. तभी रास्ते में कुछ लोगों ने उसे रोका और बाइक की चाबी छीनने के बाद उससे जय श्रीराम बोलने के लिए कहा. विरोध करने पर इमरान की पिटाई की गई और जबरदस्ती तीन बार जय श्रीराम बुलवाया गया.

इमरान का आरोप है कि उसे पत्थर से मारने की भी कोशिश की गई लेकिन शोर मचाने के बाद आस-पास के लोग आवाज सुनकर बाहर आए. इमरान ने बताया कि जब करीब 10 लोगों ने जय श्रीराम ना बोलने पर पिटाई की तो उस वक्त गणेश नाम के एक व्यक्ति ने इमरान को बचाया.

mob_072019090113.jpg

इस मामले में औरंगाबाद के बेगमपुरा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज की गई है. पुलिस के मुताबिक शिकायत में कहा गया है कि जय श्रीराम बोलने पर मजबूर किया और विरोध करने पर पिटाई की गई. जिसके बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली और मामले की जांच की जा रही है. जय श्रीराम ना बोलने पर युवक की पिटाई की इस घटना के बाद मुस्लिम समुदाय के लोग पुलिस स्टेशन में जमा होने लगे तो उनसे शांति बरकरार रखने की अपील की गई.

गौरतलब है कि जय श्रीराम के नारे लगवाने के लिए पिटाई की खबरें देश के कई हिस्सों से पहले भी आ चुकी हैं. पुलिस की सख्ती के बावजूद इंसानियत को शर्मसार करने वाली ऐसी घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. जिस तरह गणेश नाम के शख्स ने इमरान की जान बचाई, समाज में ऐसी ही सोच वाले लोगों की जरुरत है. गौरतलब है कि मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर सियासत चरम पर है और सवाल उठ रहे हैं कि आखिर ऐसी घटनाएं कब और कैसे रुकेंगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें