scorecardresearch
 

'... कोई और मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए', फडणवीस से MLA की मुलाकात पर नाना पटोले की सफाई

महाराष्ट्र के कांग्रेस विधायक और उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार में मंत्री रहे असलम शेख ने पिछले दिनों शिंदे सरकार में डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस से उनके घर पहुंचकर मुलाकात की थी. इस मुलाकात के बाद कांग्रेस में भी बगावत की चर्चा आम हो गई थी. इसे लेकर अब महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने सफाई दी है.

X
नाना पटोले (फाइल फोटो) नाना पटोले (फाइल फोटो)

शिवसेना के विधायकों ने एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में बगावत कर दी थी जिसके बाद महाराष्ट्र में महा विकास अघाड़ी (एमवीए) की सरकार गिर गई थी. एकनाथ शिंदे ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ मिलकर सरकार बना ली थी. महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी की सरकार के सत्ता में आने के बाद कांग्रेस में भी बगावत की सुगबुगाहट शुरू हो गई थी.

उद्धव सरकार में मंत्री रहे कांग्रेस के विधायक असलम शेख ने पिछले दिनों शिंदे सरकार के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की थी. असलम शेख की देवेंद्र फडणवीस के साथ मुलाकात के बाद कांग्रेस में बगावत की चर्चा ने जोर पकड़ लिया था. अब महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने देवेंद्र फडणवीस से असलम शेख की मुलाकात को लेकर सफाई दी है.

महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने असलम शेख का बचाव करते हुए कहा है कि फडणवीस के साथ असलम शेख की बैठक मछुआरों से जुड़े मसलों को लेकर थी. इस मुलाकात का कोई और मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए.  

देवेंद्र फडणवीस के करीबी माने जाने वाले मोहित कंबोज के साथ असलम शेख के नजर आने को लेकर एक सवाल पर महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष ने कहा कि उस दिन कंबोज का जन्मदिन था. जब असलम शेख, देवेंद्र फडणवीस से मिलने गए थे, कंबोज उनके घर पर ही थे. उन्होंने आगे कहा कि मोहित कंबोज और असलम शेख, दोनों के घर भी एक ही इलाके में हैं. इसलिए हो सकता है कि उन्होंने साथ यात्रा की होगी.

नाना पटोले ने कहा कि एक मंत्री के रूप में असलम शेख ने मुंबई में मछुआरों के लिए कुछ अच्छे फैसले लिए थे. उन्होंने ये भी जोड़ा कि मछुआरों के हितों की रक्षा और अच्छे फैसले नई सरकार की ओर से कहीं बदल न दिए जाएं, इसे लेकर असलम शेख ने फडणवीस से मुलाकात की थी. गौरतलब है कि असलम शेख ने सागर बंगले पहुंचकर महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की थी.

बता दें कि असलम शेख, उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार में मंत्री रहे थे. असलम शेख पर आरोप है कि उन्होंने माढ इलाके में कुछ फिल्म स्टूडियो के लिए अवैध तरीके से अनुमति दी. उद्धव सरकार में मंत्री रहे असलम शेख के पास टेक्सटाइल्स, पोर्ट और फिशरीज विभाग का कार्यभार था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें