scorecardresearch
 

महाराष्ट्रः दो गुटों में जमकर चले ईंट-पत्थर...कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त, पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोले

जालना के चंदई गांव में छत्रपति शिवाजी महाराज की मूर्ति जिस कमान पर लगाई गई थी, उसका नामकरण होना था, इसे लेकर दो गुट भिड़ गए. मामले ने तूल पकड़ लिया. जमकर पथराव हुआ, इसमें 5 पुलिसकर्मी घायल हो गए.

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 20-25 आरोपियों को गिरफ्तार किया
  • पथराव में 5 पुलिसकर्मी घायल हो गए

महाराष्ट्र के जालना जिले के एक गांव में दो गुटों में पथराव का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि पथराव के दौरान 5 पुलिसकर्मी घायल हो गए. हालांकि पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने के लिए हवा में फायरिंग भी की. लेकिन देखते ही देखते मामले ने तूल पकड़ लिया. पुलिस ने 20-25 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

जानकारी के मुताबिक जालना जिले के भोकरदान तहसील के चंदई गांव में छत्रपति शिवाजी महाराज की मूर्ति गांव में दाखिल होने वाली कमान पर लगाई गई थी. उस कमान का नाम गोपीनाथ मुंडे किया जाना था, लेकिन दो समुदायों के बीच कमान के नाम को लेकर विवाद खड़ा हो गया. यह विवाद इतना बढ़ गया कि दो गुटों ने जमकर पथराव किया.

घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हवाई फायर किया और आंसू गैस के गोले भी छोड़े .इस दौरान पुलिस ने करीब 20 से 25 लोगों को गिरफ्तार भी किया है.

चंदई में दो गुटों के आपस में भिड़ने की वजह से माहौल में तनाव व्याप्त हो गया है. इलाके में भारी संख्या में पुलिसफोर्स तैनात है. पुलिस क्षेत्र में शांति स्थापित करने का प्रयास कर रही है. साथ ही आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की तैयारी की जा रही है.

जालना एसपी हर्ष पोद्दार ने बताया कि पुलिस ने 20 से 25 लोगों को भी गिरफ्तार किया है, दोनों गुटों की ओर से पथराव में कई गाड़ियों को नुकसान पहुंचा है. कुछ पुलिस वाले भी जख्मी हुए हैं घायलों को अस्पताल ले जाया गया है. हालांकि गांव में स्थिति अभी शांत है और स्थिति नियंत्रण में है. (इनपुट- पंकज)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें