scorecardresearch
 

एक रुपए में नाश्ता और 10 रुपए में मिलता है खाना, मुंबई में किन्नर समाज की अनोखी पहल

मुंबई के कल्याण में किन्नर समाज ने गरीबों के लिए एक अनूठी योजना शुरू की है. इसके तहत एक रुपए में नाश्ता और दस रुपए में खाना खिलाया जा रहा है. यहां कल्याण स्टेशन के नजदीक अस्पताल में भर्ती मरीज औ उनके साथ आने वाले लोग भी खाना खाने पहुंचते हैं.

X
मुंबई में भोजन करते लोग. (Photo: Aajtak)
मुंबई में भोजन करते लोग. (Photo: Aajtak)

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में किन्नर समाज ने एक अनोखी पहल शुरू की है. यहां एक रुपए में नाश्ता और दस रुपए में लोगों को खाना खिलाया जा रहा है. यह अनोखी शुरुआत किन्नर समाज के 5 हजार लोगों ने मिलकर की है. मुंबई के कल्याण रेलवे स्टेशन के पास शुरू की गई रसोई से गरीबों को खाना खिलाया जा रहा है.

बदलते वक्त के साथ अब किन्नरों को राजनीति में, समाजसेवा में, पुलिस में, शिक्षा के क्षेत्र में नाम कमाते देखा जा सकता है. भले ही किन्नर समाज के साथ कितना ही भेदभाव हुआ हो, मगर किन्नर समाज के लोगों ने आम लोगों की हमेशा मदद की और योगदान दिया. मुंबई के कल्याण इलाके में किन्नर समाज ने एक मुहिम के मद्देनजर गरीब थाली योजना शुरू की है, जिसमें लोगों को एक रुपए में नाश्ता और दस रुपए में खाना मिलता है.

रसोई योजना के तहत भोजन करते लोग. (Photo: Aajtak)

किन्नर समाज के संगठन में तकरीबन पांच हजार लोग हैं, जो इस मुहिम में अपना योगदान दे रहे हैं. इस संगठन ने कल्याण रेलवे स्टेशन के पास एक रसोईघर शुरू किया है. यहां जरूरतमंद लोगों को काफी सस्ते में खाना और नाश्ता दिया जा रहा है. प्रतिदिन यहां पर पांच सौ से अधिक लोग आते हैं और पेट भरकर भोजन करते हैं.

संगठन से जुड़े लोग अपनी कमाई से हर रोज देते हैं एक रुपए का योगदान

इस संगठन की खास बात यह है कि ख्वाहिश फाउंडेशन में काम कर रहे पांच हजार लोग अपनी कमाई में से हर रोज एक रुपए का योगदान देते हैं और किचन के खर्चे को खुद ही उठाते हैं.

ख्वाहिश फाउंडेशन की अध्यक्ष और इस अनूठी पहल की शुरुआत करने वाली पूनम सिंह ने कहा कि यहां एक दिन में 500 से ज्यादा लोग खाना खाने आ रहे हैं. इस रसोई के नजदीक संचालित रुक्मिणीबाई अस्पताल में और वहां भर्ती मरीजों के रिश्तेदार भी यहां आते हैं और पेटभर खाना खाकर जाते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें