scorecardresearch
 

शिवाजी से मोदी की तुलना पर महाराष्ट्र में बवाल, बीजेपी MLA बोले- वापस हो किताब

दिल्ली बीजेपी नेता जयभगवान गोयल की किताब 'आज के शिवाजी नरेंद्र मोदी' को लेकर महाराष्ट्र में सियासी घमासान शुरू हो गया है. इस किताब में पीएम मोदी की तुलना शिवा जी से की गई है.

महाराष्ट्र में सियासी घमासान (फोटो-IANS) महाराष्ट्र में सियासी घमासान (फोटो-IANS)

  • बीजेपी MLA ने किताब वापस लेने की मांग की है
  • कांग्रेस का महाराष्ट्र में बीजेपी के खिलाफ प्रदर्शन

दिल्ली बीजेपी नेता जयभगवान गोयल की किताब 'आज के शिवाजी नरेंद्र मोदी' को लेकर महाराष्ट्र में सियासी घमासान शुरू हो गया है. इस किताब में पीएम मोदी की तुलना शिवा जी से की गई है. शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) नेताओं ने इसके लिए बीजेपी को आड़े हाथों लिया है. दिलचस्प बात यह है कि शिवाजी के वंश से ताल्लुक रखने वाले और सतारा से बीजेपी विधायक शिवेंद्र राजे भोसले ने पार्टी से किताब को सर्कुलेशन से हटाने की अपील की है.

भोसले ने कहा, 'छत्रपति शिवाजी महाराज की तुलना पीएम नरेंद्र मोदी से करने वाली पुस्तक पर बहुत विवाद है. चाहे वह शिवाजी हो या संभाजी या और कोई महान नेता. उनकी तुलना किसी से भी नहीं की जा सकती. पीएम की अपनी छवि है जो उन्होंने बनाई है. उन्होंने लोगों का दिल जीता और देश को वैश्विक पहचान दिलाई है. लेकिन फिर भी कुछ अति उत्साहित पार्टी कार्यकर्ता हैं जो लोगों की छवि खराब करने का मौका देते हुए ऐसे काम करते हैं. मैं अपनी पार्टी के शीर्ष नेताओं से अपील करता हूं कि वे इस तरह के उत्साहित कार्यकर्ताओं पर लगाम कसें. इस तरह की पुस्तक को प्रकाशित नहीं किया जाना चाहिए और यदि इसे प्रकाशित किया गया है, तो इसके प्रसार को रोकें.'

ये भी पढ़ें: 'आज के शिवाजी नरेंद्र मोदी' पर शिवसेना की धमकी, भुगतने होंगे गंभीर परिणाम

एनसीपी नेता और  महाराष्ट्र के आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने पीएम और बीजेपी पर निशाना साधा है. उन्होंने छत्रपति शिवाजी से पीएम मोदी की तुलना को शर्मनाक बताया है. जितेंद्र आव्हाड ने कहा, "सूर्य की चमक एक तरफ और मोदी दूसरी तरफ हैं. चाटुकार लोग कुछ भी कह सकते हैं, लेकिन जिस व्यक्ति की तुलना महान नायकों से की जाती है, उसे अपनी सीमाओं को समझना चाहिए. जिस क्षण मोदी ने इस किताब के बारे में सुना, उन्हें रोकना चाहिए था. लेकिन इतना सत्ता का इतना अहंकार है कि उन्हें लगता है कि वो शिवाजी महाराज और सिकंदर हैं. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को महाराष्ट्र के गौरव का अपमान करने के लिए राज्य से माफी मांगनी चाहिए.'

कांग्रेस करेगी आंदोलन

वहीं महाराष्ट्र कांग्रेस ने इसे महान मराठा सम्राट शिवाजी की अवमानना करार देते हुए इसके विरोध में मंगलवार को राज्यव्यापी आंदोलन की घोषणा की है. इससे पहले इस किताब की आलोचना करते हुए शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा था कि छत्रपति शिवाजी महाराज महाराष्ट्र के पूजनीय व्यक्तित्व हैं और उनकी तुलना किसी के साथ नहीं की जा सकती है.

ये भी पढ़ें: स्टिंग ऑपरेशन के बाद पलटा JNU छात्र अक्षत, कहा- शेखी बघारने को झूठ बोला

महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष और राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट ने कहा कि इस तरह की तुलना करने के लिए पहले भी अजय कुमार बिष्ट और विजय गोयल जैसे कुछ बीजेपी कार्यकर्ताओं द्वारा प्रयास किए गए थे. थोराट ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी स्वार्थपूर्ण राजनीति कर रहे हैं और उन्होंने सीएए-एनआरसी के साथ देश को विभाजित करने का काम किया है. थोराट ने कहा कि मोदी के नेतृत्व में नोटबंदी के बाद जनता को परेशान किया गया, देश को निरंकुश तरीके से शासित किया जा रहा है. मोदी की तुलना महान छत्रपति शिवाजी महाराज के साथ कभी भी नहीं हो सकती है.

थोराट ने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज ने सभी धर्मों के लोगों को 'स्वराज्य' का मार्ग प्रशस्त करने के लिए एकजुट किया. थोराट ने किताब के खिलाफ 14 जनवरी को सभी शहरों, जिलों और तालुका में भाजपा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने की घोषणा की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें