scorecardresearch
 

सीट बंटवारे पर तकरार के बीच शिवसेना-बीजेपी ने कहा, 'जारी रहेगा गठबंधन'

क्या सीटों के बंटवारे को लेकर शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी के बीच 25 साल पुराना गठबंधन टूट जाएगा? फिलहाल दोनों पार्टी ने साफ कर दिया है कि ऐसा नहीं होने वाला. गठबंधन जारी रहेगा.

अमित शाह और उद्धव ठाकरे अमित शाह और उद्धव ठाकरे

क्या सीटों के बंटवारे को लेकर शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी के बीच 25 साल पुराना गठबंधन टूट जाएगा? फिलहाल दोनों पार्टियों ने साफ कर दिया है कि ऐसा नहीं होने वाला, गठबंधन जारी रहेगा.

शुक्रवार शाम तक गठबंधन को बचाने पर सहमति तो बन गई, लेकिन सीटों को लेकर दोनों दलों की सहमति बननी बाकी है.

पहले मुंबई में बीजेपी की कोर कमेटी की बैठक हुई. बैठक के बाद बीजेपी ने झुकने के संकेत दिए. इशारा साफ था...गठबंधन बना रहे, मुख्यमंत्री पद की दावेदारी पर चर्चा तो बाद में भी हो जाएगी. इसके बाद शिवसेना और बीजेपी के नेताओं के बीच बैठक हुई. बीजेपी की ओर से ओम माथुर और शिवसेना की ओर से उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने मोर्चा संभाला. सीट बंटवारे को लेकर चर्चा तो हुई, पर फैसला नहीं हुआ. बीजेपी ने झुकने के संकेत दिए, तो शिवसेना ने भी दोस्ती को जारी रखने का राग अलाप दिया. बैठक के बाद आदित्य ठाकरे ने कहा कि उनकी पार्टी भी गठबंधन बरकरार रखना चाहती है.

आज तक से बातचीत में उन्होंने कहा, 'हमारी बातचीत तो पहले से चल रही है. चुनाव नजदीक आ गए हैं इसलिए सीट पर फैसला भी जल्द लेना होगा. इस पर चर्चा हुई. जो सामने आया उसके बारे में उद्धव ठाकरे जी को बताऊंगा. वही कुछ फैसला लेंगे.'

गठबंधन पर आदित्य ठाकरे ने कहा, 'बाल ठाकरे और प्रमोद महाजन ने इस गठबंधन की नींव हिंदुत्व और महाराष्ट्र के विकास के मुद्दे पर रखी थी. हम इस गठबंधन को आगे ले जाना चाहते हैं. महाराष्ट्र का विकास हो, देश आगे बढ़े इसलिए हम साथ बने रहेंगे.'

माना जा रहा है कि बैठक में शिवसेना ने थोड़ा पीछे हटते हुए 150 की बजाय 145 सीटों पर तैयार होने के संकेत दिए, लेकिन बीजेपी को 119 की बजाय 125 सीटें देने की भी चर्चा हुई. देर रात पार्टी की एक और बैठक में सारी तस्वीर साफ होने के आसार हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें