scorecardresearch
 

AIMIM विधायक की दादागिरी, 20 समर्थकों के साथ पहुंचे अस्पताल और...

AIMIM विधायक के समर्थक और पूर्व परिषद रिजवान शेख के घर पर एक शख्स ने फायरिंग की थी. लेकिन फिलहाल वो कोर्ट के आदेश पर अस्पताल में ट्रीटमेंट ले रहा है. विधायक का गुस्सा इस बात को लेकर है कि शख्स को तय समय के बाद भी अस्पताल में क्यों भर्ती रखा गया है?

मालेगांव में विधायक की दादागिरी (फोटो- फेसबुक) मालेगांव में विधायक की दादागिरी (फोटो- फेसबुक)

  • अस्पताल पहुंचकर डॉक्टर के साथ हाथापाई
  • बिफरे स्टाफ ने किया दो घंटे का बंद

देश कोरोना महामारी की चपेट में है. पूरे देश में इस बीमारी को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन के साथ-साथ धारा 144 लागू की गई है जिससे कि कहीं लोग इकट्ठा ना हो पाएं. लेकिन कानून बनाने वाले ही अब एहतियात बरतने को तैयार नहीं हैं. इतना ही नहीं अपने समर्थकों के साथ अस्पताल में दादागिरी करते भी नजर आए. दरअसल महाराष्ट्र के मालेगांव में ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) विधायक मौलाना मुफ्ती इस्माईल ने सिविल अस्पताल पहुंचकर वहां के अधीक्षक से हाथापाई की.

इलाके में धारा 144 लागू है, इसके बावजूद विधायक अपने 20 समर्थकों के साथ अस्पताल पहुंचे और डॉ. किशोर डांगे के साथ हाथापाई की. हालांकि डॉक्टर ने मामले को संभाल लिया. लेकिन इस घटना के बाद से अस्पताल स्टाफ गुस्से में हैं. उन्होंने दो घंटे का काम बंद आंदोलन का आह्वान किया लेकिन मंत्री दादा भुसे के समझाने पर आंदोलन वापस ले लिया. बता दें, इसी अस्पताल में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों को रखा गया है.

और पढ़ें- दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक का डॉक्टर संक्रमित, संपर्क में आए मरीजों को क्वारंटीन के आदेश

क्यों गुस्साए विधायक?

दरअसल AIMIM विधायक के समर्थक और पूर्व परिषद रिजवान शेख के घर पर एक शख्स ने फायरिंग की थी. लेकिन फिलहाल वो कोर्ट के आदेश पर अस्पताल में ट्रीटमेंट ले रहा है. विधायक का गुस्सा इस बात को लेकर है कि शख्स को तय समय के बाद भी अस्पताल में क्यों भर्ती रखा गया है?

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

कोरोना वायरस अपडेट्स के लिए यहां क्लिक करें...

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें