scorecardresearch
 

18 महीने बाद बच्चे पहुंचे स्कूल, पहले दिन कैसा रहा प्राइमरी स्कूल का माहौल?

18 महीने बाद बच्चे पहुंचे स्कूल, पहले दिन कैसा रहा प्राइमरी स्कूल का माहौल?

कोरोना की दूसरी लहर कमज़ोर पड़ने के बाद मध्य प्रदेश सरकार ने छोटे बच्चों की क्लास खोलने का फैसला ले लिया था. राज्य में 18 महीने बाद आज पहली से पांचवी तक के बच्चों के स्कूल खुले थे. पहली से पांचवी कक्षा तक के बच्चों को 50 फीसदी क्षमता के साथ स्कूल में बुलाया गया. यहां भी स्कूल आने के लिए माता-पिता की सहमति अनिवार्य की गई है. बिना माता-पिता की लिखित सहमति के बच्चों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा. पहले दिन शिक्षकों ने बच्चों का चॉकलेट और फूल से स्वागत किया. बच्चों को पेंसिल और रबर भी दिए गए. बच्चे क्लास में एक दूसरे से दूर बैठे दिखे. इसके लिए हर शिक्षक की ड्यूटी लगाई गई है. बच्चों को बोतल और टिफिन एक दूसरे से साझा ना करने की हिदायत दी गई है. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×