scorecardresearch
 

MP: नहीं मिला अपॉइंटमेंट लेटर तो चयनित उम्मीदवारों ने मुंडवाया सिर

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में रविवार और सोमवार को चयनित 70 अभ्यर्थियों ने सामूहिक मुंडन कराकर कमलनाथ सरकार के खिलाफ विरोध जताया. दरअसल, एमपीपीएससी के जरिए असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर चयनित अभ्यर्थी लंबे समय से अटकी अपनी नियुक्ति के लिए पिछले कुछ दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं.

मुंडन कराते चयनित अभ्यर्थी मुंडन कराते चयनित अभ्यर्थी

  • ऑनलाइन परीक्षा के बाद 27 सौ अभ्यर्थियों का हुआ था चयन
  • नियुक्ति की मांग को लेकर नीलम पार्क में कराया मुंडन

मध्य प्रदेश लोकसेवा आयोग (एमपीपीएससी) ने कॉलेजों में रिक्त असिस्टेंट प्रोफेसर के तीन हजार पदों के लिए भर्ती निकाली थी. ऑनलाइन परीक्षा भी हो गई और 27 सौ अभ्यर्थी चयनित भी कर लिए गए, लेकिन नियुक्ति नहीं मिली. लंबे समय से अटकी पड़ी इस भर्ती की नियुक्ति प्रक्रिया पूर्ण करने की मांग को लेकर चयनित अभ्यर्थी आंदोलन कर रहे हैं.

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में रविवार और सोमवार को चयनित 70 अभ्यर्थियों ने सामूहिक मुंडन करा कमलनाथ सरकार के खिलाफ विरोध जताया. दरअसल, एमपीपीएससी के जरिए असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर चयनित अभ्यर्थी लंबे समय से अटकी अपनी नियुक्ति के लिए पिछले कुछ दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं. अभ्यर्थियों ने महू से रैली निकाली और भोपाल पहुंचे. भोपाल के नीलम पार्क में प्रदर्शन के बीच ही उम्मीदवारों ने विरोधस्वरूप अपना मुंडन करवाया.

क्या है अभ्यर्थियों का पक्ष

आंदोलन कर रहे अभ्यर्थियों का कहना है कि प्रदेश सरकार के उच्च शिक्षा विभाग के तहत आने वाले शासकीय कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर के चार हजार से अधिक पद खाली हैं. इनमें से लगभग 3 हजार पदों पर भर्ती के लिए एमपीपीएससी ने ऑनलाइन परीक्षा ली थी, जिसमें करीब 2700 उम्मीदवारों का चयन भी हो गया था लेकिन चयनित उम्मीदवारों को अभी तक नौकरी नहीं मिली है.

अभ्यर्थियों का कहना है कि वह अपनी नियुक्ति की मांग को लेकर उच्च शिक्षा मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक गुहार लगा चुके हैं, लेकिन अभी तक नियुक्ति को लेकर सिवाय आश्वासन के कुछ नहीं मिला. अभ्यर्थियों ने कहा कि सबसे गुहार लगाने के बाद मजबूर होकर आंदोलन का रास्ता अख्तियार करना पड़ा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें