scorecardresearch
 

मध्य प्रदेश: विभागों के बंटवारे पर कमलनाथ ने पूछा- 'किसके हिस्से आया विष'

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधा है. कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार के बाद रोजाना तारीख पर तारीख मिल रही थी.

एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (फाइल फोटो) एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (फाइल फोटो)

  • कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधा है
  • मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर कमलनाथ ने किया ट्वीट

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल का विस्तार हो चुका है. अब मंत्रियों को विभाग का बंटवारा भी हो चुका है. आज यानी सोमवार को सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधा है. कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार के बाद रोजाना तारीख पर तारीख मिल रही थी.

कमलनाथ ने ट्वीट करते हुए लिखा, '23 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ, हमारी बार- बार मांग के बाद, करीब एक महीने बाद सिर्फ 5 सदस्यीय मंत्रिमंडल का गठन, फिर लंबा मंथन, फिर 102 दिन बाद 2 जुलाई को मंत्रिमंडल का विस्तार और उसके बाद रोज तारीख पे तारीख के बाद, लंबे मंथन के बाद, 11 दिन बाद आज विभागों का वितरण. अब पता नहीं विष के इस लंबे मंथन में किसके हिस्से में क्या आया, किसने क्या पाया, क्या खोया, किसने क्या समझौता किया? इसकी सच्चाई तो अब आने वाले समय में ही सामने आएगी?'

110 दिनों बाद मिले कैबिनेट के साथ मंत्रियों को पद

कमलनाथ ने आगे लिखा, 'मैं प्रदेश के सभी नवनियुक्त मंत्रियों को उनके विभाग मिलने पर बधाई देता हूं और उम्मीद करता हूं कि सभी मंत्रीगण अपने विभागों के माध्यम से प्रदेश के विकास में अपना महत्वपूर्ण सहयोग प्रदान करेंगे.'

चीन को भारत का सामरिक जवाब, लद्दाख सीमा तक जाएगी सबसे ऊंची रेल लाइन

सूबे से कमलनाथ सरकार की रवानगी के बाद 23 मार्च को जब शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी हालांकि उस दौरान कोई मंत्री नहीं बनाया गया था. इसके बाद 21 अप्रैल को शिवराज ने मिनी कैबिनेट का गठन किया था जिसमें 5 मंत्रियों ने शपथ ली थी. इस कैबिनेट में 3 मंत्री बीजेपी खेमे से थे तो 2 मंत्री सिंधिया गुट से थे. अब 2 जुलाई को शपथ लेने के 11 दिन बाद विभाग बांटे गए हैं.

राहुल-प्रियंका समेत पांच बड़े नेताओं ने की पायलट से बात, जयपुर जाने को कहा

यानी 23 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के करीब 110 दिन बाद कैबिनेट के सभी मंत्रियों को पद मिले हैं. कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी और सिंधिया खेमे से किस मंत्री को कौन-सा विभाग देना है इस वजह से इतनी देरी हुई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें