scorecardresearch
 

मध्य प्रदेश: छिंदवाड़ा में खुला बर्तन बैंक, 5 रुपए में मिलेगा थैला

मध्य प्रदेश में अब बर्तनों से जुड़ा एक बैंक सामने आया है. यह बैंक मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में खोला गया. छिंदवाड़ा नगर निगम ने बर्तन बैंक और थैला बैंक खोला है.

बर्तन बैंक बर्तन बैंक

  • मध्य प्रदेश में खुला बर्तनों से जुड़ा बैंक
  • छिंदवाड़ा नगर निगम ने खोला ये बैंक

आपने नोटों का बैंक तो देखा है लेकिन अब बर्तनों का बैंक भी सामने आ चुका है. मध्य प्रदेश में अब बर्तनों से जुड़ा एक बैंक सामने आया है. यह बैंक मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में खोला गया. छिंदवाड़ा नगर निगम ने बर्तन बैंक और थैला बैंक खोला है.

बर्तन और थैला बैंक खोलने का उद्देश्य यह है कि प्लास्टिक और थर्मोकोल प्लेटों का इस्तेमाल कम से कम हो. इसी को ध्यान में रखते हुए नगर निगम ने शहर वासियों के लिए बर्तन बैंक और थैला बैंक खोला है. यह बैंक शहर के सब्जी बाजार में खुला है ताकि लोगों की नजरें इस बैंक की ओर पड़े. लोग अपने घरों से सब्जियां लेने आए और अगर उनके पास सब्जियां लेने के लिए थैला नहीं है तो वे इस बैंक में 5 रुपए देकर थैला खरीद सकते हैं.

नगर निगम ने शहर में सिर्फ अभी एक ही जगह ये बैंक खोला है. स्वसहायता समूह की महिलाएं इस बैंक में काम करती हैं. यहां नगर निगम ने बर्तन उपलब्ध करवाए हैं. स्वसहायता समूह की महिलाएं थैला सिलती है और इसी बैंक के माध्यम से थैला बेचकर अपनी इनकम सोर्स को बढ़ा रही है. वहीं इस बैंक के जरिए प्लेट, चम्मच आदि भी सस्ते दाम में मुहैया करवाए जा रहे हैं.

होती है गंभीर बीमारियां

स्वसहायता समूह की महिला मीना चौरसिया का कहना है, 'डिस्पोजल प्लास्टिक थैलियां इस्तेमाल करने पर लोगों को गंभीर बीमारियां हो रही हैं. हम जिन पन्नियों को यूज कर फेंक देते हैं, उसे गाय खाती है. गाय जब ये प्लास्टिक की पन्नियां खाती है तो उनकी मौत भी हो जाती है. इस को देखते हुए बर्तनों का बैंक खोला गया है.

नगर निगम की इस पहल से लोग भी खुश है. लोगों का कहना है कि नगर निगम की यह पहल अच्छी है. इससे शहर में प्लास्टिक और डिस्पोजल थर्मोकोल से मुक्ति मिलेगी और छिंदवाड़ा स्वच्छ सुंदर होगा. लोगों ने कहा कि बर्तन बैंक और भी स्थानों पर खुलना चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें